Antigen test will be done for 'super spreader' persons

नाशिक. नियंत्रित हुआ कोरोना दिवाली की भीड़ के बाद फिर से अपना रंग दिखा रहा है. इस संभाव्य दुसरी लहर का सामना करने के लिए मनपा तैयार है. इसके तहत टेस्ट की संख्या बढ़ाई गई है. एंटीजन किट मिलने में देरी होने से अब आरटीपीसीआर टेस्ट बढ़ाने का निर्णय लेते हुए 25 हजार टेस्ट का नियोजन किया गया है.

सुरक्षात्मक उपाय के चलते कोरोना नियंत्रित

विशेष यह है कि 25 हजार टेस्ट सीएसआर उपक्रम के किए जाएंगे. सहकार क्षेत्र की एक कंपनी इस कार्य में अपना योगदान देने वाली है. इससे मनपा के ढ़ाई करोड़ रुपए की बचत होगी. दिवाली के पहले सरकारी यंत्रणा द्वारा की गई जनजागृति और नागरिकों द्वारा किए गए सुरक्षात्मक उपाय के चलते कोरोना नियंत्रित हुआ. परंतु दिवाली के समय मंडियों में जमकर भीड़ होने से और नागरिकों ने यात्रा करने से कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ रही है.

संख्या बढ़ने से प्रशासकीय यंत्रणा सतर्क

पिछले 8 दिनों में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने से प्रशासकीय यंत्रणा सतर्क हो गई है. ऐसे में दिल्ली, गुजरात, केरल में कोरोना मरीज बढ़ने से राज्य सरकार ने मनपा को सतर्क रहने के आदेश दिए. अन्य राज्यों से आने वाले नागरिकों पर आरटीपीसीआर जांच की सख्ती के साथ मनपा को नाशिक में आने वाले नागरिकों की जांच करने के आदेश दिए. इसलिए मनपा ने एक ओर बेड की व्यवस्था की तो दुसरी ओर कोरोना टेस्ट करने का प्रतिशत बढ़ाया. मनपा के स्थायी समिति ने एंटीजन टेस्ट किट खरिदी के प्रस्ताव पर संदेह लेने से वैद्यकीय विभाग ने अब टेस्ट के लिए सीएसआर उपक्रम की मदद ली है.

कोरोना के संकट में मनपा ने अनेक साहित्य कंपनियों के सामाजिक उत्तरदायित्व के अंतर्गत हासिल किया. अब आरटीपीसीआर टेस्ट सीएसआर उपक्रम के अंतर्गत किए जा रहे है. आयसीआयसीआय लोम्बार्ड से मनपा को 25 हजार आरटीपीसीआर टेस्ट नि:शुल्क की जाएगी. इसके लिए मनपा ने मेट्रो पॉलिस लैब से अनुबंध किया है. इन टेस्ट का पूरा खर्च आयसीआयसीआय लोम्बार्ड द्वारा किया जाएगा. 

मनपा के बचे ढ़ाई करोड़ रुपए

मनपा की ओर से आज की स्थिति में औरंगाबाद, पुणे की निजी और सरकारी लैब के माध्यम से टेस्ट की जा रही है. इसके लिए मनपा को प्रति टेस्ट 980 रुपए अदा करने पड़ते हैं. परंतु सीएसआर फंड से 25 हजार आरटीपीसीआर टेस्ट मिलने से मनपा के 2 करोड़ 45 लाख रुपए की बचत होने वाली है. बचत हुआ निधि अस्पताल के वैद्यकीय सुविधाओं पर खर्च किया जाएगा. इसके चलते मनपा को एक ही समय नि:शुल्क टेस्ट और आर्थिक बचत का लाभ हुआ है.