3-month-old child found in bushes, ashram children saved innocent life

त्र्यंबकेश्वर. त्र्यंबकेश्वर-नाशिक महामार्ग (Trimbakeshwar-Nashik Highway) के समीप आधार तीर्थ आश्रम के सामने (तुपादेवी फाटा) रात 2 बजे के आस-पास एक बालक को झाड़ियों में फेंकने की घटना सामने आई है. त्र्यंबकेश्वर पुलिस (Trimbakeshwar Police) ने प्रकरण दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है.

पुलिस के अनुसार रात के समय अचानक एक बालक के जोर-जोर से रोने की आवाज आने से आश्रम में रहने वालों की नींद खुली. इसके बाद आश्रम के बच्चों ने उन्हें संभालने वाली मौसी को जगाया, जो झाड़ियों से बालक को उठाकर लाई. तत्काल इसकी सूचना आश्रम के अध्यक्ष और पुलिस कंट्रोल रूम को दी. त्र्यंबकेश्वर पुलिस का गश्ती पथक पुलिस उपनिरीक्षक अश्विनी टिले के साथ मौके पर पहुंचा.

इस दौरान आश्रम की महिलाओं ने बालक को दूध पिलाया और उसकी वैद्यकीय जांच की. अस्पताल के डॉक्टरों ने बच्चे को स्वस्थ बताया. इसके बाद बच्चे को बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया गया. बालक को नाशिक शहर के आधार आश्रम में भर्ती किया गया है. पुलिस ने आईपीसी की धारा 139 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. घटना को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश है.