नाशिक के 32237 छात्र शिक्षा से वंचित

  • मोबाइल का अभाव और मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी सर्वेक्षण जिम्मेदार
  • एंड्राइड फोन नहीं दे पाए अभिभावक
  • शिक्षकों की जांच में हुआ खुलासा

नाशिक. कोरोना संक्रमण के चलते स्कूल बंद हैं, लेकिन ऑनलाइन के माध्यम से छात्रों को शिक्षा देने के प्रयास किए जा रहे हैं. परंतु अभिभावकों की आर्थिक स्थिति कमजोर होने से छात्रों के पास एंड्राइड मोबाइल नहीं है. इसके चलते पिछले 7 माह से नाशिक महानगर पालिका स्कूल के 4500 छात्रों के मोबाइल के अभाव में शिक्षा से वंचित होने की बात सामने आई है. वहीं मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी अभियान के सर्वेक्षण से 27 हजार 737 छात्र शिक्षा से वंचित हो गए हैं. 

बता दें कि कोरोना संक्रमण के चलते मार्च माह से लॉक डाउन लागू किया गया. जून माह में सरकार ने बिगड़ी अर्थ व्यवस्था को सुधारने के लिए कुछ हद तक कामकाज शुरू किया. इसके तहत चरण-चरण में अनलॉक प्रक्रिया शुरू हुई, लेकिन स्कूल- कालेज शुरू नहीं हो पाए. परंतु जून माह से शैक्षणिक वर्ष की शुरुआत निजी शैक्षणिक संस्थाओं ने ऑनलाइन तरीके से पढ़ाना शुरू किया.

नाशिक महानगर पालिका ने भी छात्रों को शिक्षा देने के लिए ऑनलाइन शिक्षा शुरू की. इसके तहत अगस्त माह में छात्रों को जूम मीटिंग, प्रश्न मालिका हल करने के लिए शिक्षा विभाग की लिंक तैयार कर अभिभावकों को भेजी. परंतु 4500 छात्रों तक लिंक नहीं पहुंची. शिक्षकों के माध्यम से जांच करने के बाद छात्रों के पास एंड्राइड मोबाइल न होने की बात सामने आई. अभिभावकों की आर्थिक स्थिति कमजोर होने से वह अपने बच्चों को मोबाइल नहीं दिला पाए. इस दौरान छात्रों का शैक्षणिक नुकसान टालने के लिए शिक्षकों ने छात्रों को स्वाध्याय पत्रिका के माध्यम से शिक्षा प्रदान की. परंतु मोबाइल के अभाव में छात्रों के शिक्षा से वंचित होने की गंभीर बात सामने आई है.

सर्वेक्षण के चलते पढ़ाना हुआ बंद

4500 छात्रों के बाद मोबाइल न होने से वह शिक्षा से वंचित रहे. दूसरी ओर जिन छात्रों को प्रत्यक्ष या ऑनलाइन के माध्यम से पढ़ाया जा रहा था, वह प्रक्रिया पिछले माह से बंद हो गई है. क्योंकि मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी अभियान के तहत सर्वेक्षण करने के लिए मनपा ने 735 शिक्षकों का चयन किया. एक साथ छात्रों को पढ़ाना और सर्वेक्षण करना असंभव होने से पढ़ाई बंद हो गई. कुल मिलाकर 32237 छात्र शिक्षा से वंचित हो गए हैं.

छात्रों का नुकसान

एंड्राइड मोबाइल के अभाव में छात्रों का नुकसान नहीं होगा. मनपा और एनजीओ के माध्यम से छात्रों को टैब, मोबाइल और डेटा पैक उपलब्ध कराया जाएगा.

-कैलास जाधव, आयुक्त, नाशिक महानगर पालिका

टैब देने का होगा प्रयास

छात्रों को अत्याधुनिक तकनीक की मदद से शिक्षा देने के लिए प्रशासन ने टैब देने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन उसे मंजूरी नहीं मिली. अब फिर से प्रस्ताव पेश किया जाएगा.

-संगीता गायकवाड़, सभापति, शिक्षा समिति

एनजीओ देंगे मोबाइल

एंड्राइड मोबाइल के अभाव में छात्रों के शिक्षा से वंचित होने की बात सही है. फिर भी स्वाध्याय पत्रिका के माध्यम से शिक्षकों ने छात्रों को पढ़ाने का प्रयास किया. छात्रों को मोबाइल देने के लिए एनजीओ तैयार हैं, जिसकी प्रक्रिया चल रही है.

-सुनीता धनगर, शिक्षाधिकारी, नाशिक मनपा