कोरोना से मुकाबला करने मनपा में तैनात हुए 5 अधिकारी

अब तक डेढ़ करोड़ की मिली निधि

जिलाधिकारी सूरज मांढरे ने दी जानकारी

नाशिक. नाशिक शहर में दिन ब दिन बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जिला प्रशासन व नाशिक महानगर पालिका प्रशासन द्वारा समय-समय पर समन्वय और चर्चा कर निर्णय लिए जाते हैं. इसी क्रम में जिला आपदा निवारण प्राधिकरण के माध्यम से नाशिक महानगर पालिका को इसके पहले 50 लाख रुपए दिया गया है. आज फिर 1 करोड़ रुपए की निधि उपलब्ध कराई गयी है. इसके अलावा कोरोना प्रतिबंधक उपाय के क्षेत्रीय स्तर पर प्रभावी उपाय करने के लिए जिला प्रशासन ने 5 अधिकारी नाशिक महानगर पालिका को उपलब्ध कराए. 

मनपा को उपलब्ध कराई जा रहीं सुविधाएं

इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए जिलाधिकारी सूरज मांढरे ने कहा, देश और राज्य में कोविड-19 का संक्रमण रोकने के लिए आवश्यक होने वाले विलगीकरण कक्ष गठित करने, उनके लिए अस्थायी निवासी व्यवस्था करने, अनाज, कपड़े, वैद्यकीय देखभाल और उपाय योजना के लिए जिला को राज्य आपदा प्रतिसाद निधि से निधि वितरित की जाती है. इससे 50 लाख रुपए की निधि इसके पहले ही नाशिक महानगर पालिका को दी गयी थी. आज फिर 1 करोड़ रुपए मनपा को मिले हैं. जिले में बढ़ रहे कोरोना मरीजों की संख्या कम करने के लिए जिला प्रशासन एक ओर काम कर रहा है तो दूसरी ओर नाशिक महानगर पालिका कार्यक्षेत्र में बढ‍़ रहे कोरोना प्रकोप को कम करने के लिए विविध उपाय कर रही है. 

मनपा को कोरोना से लड़ने मिलेगी मदद

इन उपायों को क्षेत्रीय स्तर से प्रभावी तौर पर कार्यान्वित करने के लिए पर्याप्त पर्यवेक्षकीय अधिकारी नियुक्त करना आवश्यक है. इस बारे में मनपा आयुक्त राधाकृष्ण गमे से हुई चर्चा के बाद जिला प्रशासन के 5 अधिकारियों को मनपा के लिए उपलब्ध कराया गया है. इससे कोरोना का प्रभाव कम करने के लिए मनपा को मदद होगी. मनपा को मिले अधिकारियों में उपजिला चुनाव अधिकारी कुंदनकुमार सोनवणे, जिला पुनर्वसन अधिकारी नितीन गावंडे, उपजिलाधिकारी (भूसंपादन क्र. 2) गणेश मिसाल, कार्यकारी अभियंता (जलसंधारण विभाग, नाशिक,) प्रवीण खेडकर, जिला नियोजन अधिकारी (मानव विकास) हेमंत अहिरे आदि शामिल हैं.