पिंजरे में कैद हुई 6 वर्ष की मादा तेंदुआ

  • एक सप्ताह से भयभीत थे परिसर के नागरिक

सिन्नर. तहसील के नलवाड़ी में लगाए गए पिंजरे में अल सुबह 6 वर्ष की मादा तेंदुआ (Leopard) कैद हुई. पिछले एक सप्ताह से परिसर के नागरिक इस तेंदुआ से भयभीत थे. तेंदुआ पिंजरे में कैद होने की जानकारी मिलते ही नागरिकों को राहत मिली.

पिछले सप्ताह में तीन-चार बार नागरिकों को यह तेंदुआ दिखाई दिया. इसके बाद वन परिक्षेत्र अधिकारी प्रवीण सोनवणे के मार्गदर्शन में नलवाडी स्थित पांढरे बस्ती में अर्जुन दराडे के खेत में पिंजरा लगाया गया. आखिरकार तेंदुआ पिंजरे में कैद हो गया है.

नागरिकों ने इस बारे में वन विभाग को जानकारी देते हुए वन परिक्षेत्र अधिकारी प्रवीण सोनवणे, वन परिमंडल अधिकारी के. आर. ईरकर, वन रक्षक सीमा खांडेकर, चालक रोहित लोणारे, रामनाथ अगिवले, भगवान जाधव, तुकाराम मेंगाल, जगन जाधव, शंकर वारघडे, संतोष मेंगाल आदि घटना स्थल दाखिल हुए और तेंदुए को मोहदरी स्थित वन उद्यान में ले गए. पशुवैद्यकीय अधिकारी ने तेंदुए की जांच की.