ऑक्सीजन-दवाइयों की सौदेबाजी पर दर्ज होगा मामला

  • स्वतंत्र उड़नदस्तों के माध्यम से होगी नियमित जांच
  • जिलाधिकारी सूरज मांढरे ने दी जानकारी

नाशिक. जिलाधिकारी सूरज मांढरे ने कहा कि ऑक्सीजन की सौदेबाजी अब नहीं होगी. समय पर संबंधितों के खिलाफ मामला दर्ज होगा. सभी अस्पतालों को ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति शुरू रखने के लिए उड़नदस्तों के माध्यम से जांच करने की सूचना दी गई है. वे जिलाधिकारी कार्यालय में जिले के कोरोना पीड़ितों को ऑक्सीजन और दवाइयों की आपूर्ति सुचारू रखने के लिए गठित किए गए लघु कृति गट की आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे.

इस समय निवासी उपजिलाधिकारी भागवत डोईफोडे, उपजिलाधिकारी वासंती माली, अतिरिक्त जिला शल्य चिकित्सक निखिल सैंदाणे, अनाज व दवाई प्रशासन की सहायक संचालक माधुरी पवार, जिला उद्योग केंद्र के व्यवस्थापक सतीश भामरे आदि उपस्थित थे. बैठक की शुरुआत में गट द्वारा किए जा रहे कार्य की जानकारी देते हुए सदस्यों ने कहा कि जिले के कोविड-19 पीड़ितों के लिए हर दिन 3 हजार 801 ऑक्सीजन के जम्बो सिलेंडर की मांग हो रही है. जिले में 5 हजार 571 जम्बो सिलेंडर की आपूर्ति की जा रही है.

इस बारे में मनपा व नगर पालिका से जानकारी संकलित करने की बात अतिरिक्त जिला शल्य चिकित्सक निखिल सैंदाणे कही. जिले के मरीजों के लिए पर्याप्त ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है. मरीजों के लिए आवश्यक होने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति करने वाले स्टॉकिस्ट की लगातार जांच कर रिपोर्ट पेश करने का निर्देश जिलाधिकारी मांढरे ने अनाज व दवाई प्रशासन की सहायक आयुक्त माधुरी को दिया. उनकी मदद के लिए दो अधिकारियों का चयन किया गया है. उन्हें वाहन देने का निर्देश भी जिलाधिकारी ने दिया. दवाइयों की सौदेबाजी होने की बात सामने आने पर उनके खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा.