बिटको अस्पताल में होगा सभी बीमारियों इलाज

  • वैद्यकीय महाविद्यालय भी होगा शुरू
  • पालकमंत्री छगन भुजबल ने दी जानकारी

नाशिक. नाशिक जिले के पालकमंत्री छगन भुजबल ने कहा कि कोरोना के बढ़ते प्रभाव को ध्यान में रखते हुए समय पर उपाय योजना करना आवश्यक है. इसके लिए जिले की सभी आरोग्य यंत्रणा हरसंभव प्रयास कर रही है, जिसमें बिटको अस्पताल का नाम सबसे आगे है. भविष्य में सभी बीमारियों का इलाज करने वाले अस्पताल के रूप में बिटको अस्पताल की पहचान होगी. साथ ही इस अस्पताल में वैद्यकीय महाविद्यालय भी शुरू किया जाएगा. वे नाशिक महानगर पालिका के बिटको अस्पताल का दौरा करने के बाद पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे.

इस समय पूर्व सांसद समीर भुजबल, आरोग्य उपसंचालक मल्लिकार्जुन पट्टणशेट्टी, मनपा के अतिरिक्त आयुक्त प्रवीण आष्टीकर, आरोग्य अधिकारी डॉ. बापूसाहब नागरगोजे, नोडल अधिकारी आवेश पलोड, डॉ. जितेंद्र धनेश्वर आदि उपस्थित थे. भुजबल ने आगे कहा कि मुंबई के केईएम अस्पताल की तर्ज पर नाशिक के बिटको अस्पताल में सभी बीमारियों का निदान हो, ऐसी सुविधा उपलब्ध कराकर सभी बीमारियों पर एक ही जगह पर मरीजों को उपचार मिले, इस दृष्टि से प्रयास करें. शहर के महत्वपूर्ण जगह पर यह अस्पताल होने से यहां पर वैद्यकीय महाविद्यालय शुरू करने के लिए नियोजन करें.

मंत्री ने अस्पताल कर्मचारियों से की मुलाकात

जिले की आरोग्य यंत्रणा सक्षम होने के लिए भविष्य में कोविड के अतिरिक्त हमेशा के लिए सभी बीमारियों पर उपचार होने वाला यह अस्पताल बनेगा. इसमें प्रमुख रूप से शस्त्रक्रिया, आधुनिक पद्धति से विविध वैद्यकीय टेस्ट करने की सुविधा उपलब्ध कराया जाएगा. कोविड के समय मरीजों को ऑक्सीजन की आपूर्ति सही तरह से हो, इसलिए नाशिक महानगर पालिका के बिटको अस्पताल में कोविड तथा अन्य मरीजों के लिए 19 किलो के ऑक्सीजन की सबसे बड़ी टंकी बिठाई गई है. साथ ही रेडियोलॉजी मरीजों की सेवा के लिए सुयोग्य मनुष्यबल उपलब्ध कराया गया है. दरमियान भुजबन ने कोरोना मरीजों के लिए दिन-रात काम करने वाले डॉक्टर्स, नर्स से भी मुलाकात कर चर्चा की.