arrest

  • मंजुला गावित ने मामले के पटाक्षेप का किया आह्वान

साक्री. साक्री विधानसभा क्षेत्र की विधायक मंजुला गावित के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करनेवाले आरोपी को पुलिस ने दबोच लिया है. इसी आरोपी को गिरफ्तार करके कड़ी सजा देने की मांग को लेकर तहसील के हर हिस्से में शनिवार को जोरदार प्रदर्शन हुए थे. आरोपी की गिरफ्तारी के बाद विधायक मंजुला गावित ने अपने समर्थकों से घटना का पटाक्षेप करने का आह्वान किया है.

माध्यमिक विद्यालय का शिक्षक निकला आरोपी

आरोपी के रूप में जगु उर्फ जगदीश अकलाड़े की शिनाख्त हुई है. वह माध्यमिक विद्यालय का  शिक्षक है. जो जगूदादा के नाम से व्हाट्सएप के ग्रुप में शामिल था. बुधवार को पांझरा-कान चीनी मिल फिर से शुरू हो, इस मुद्दे पर ग्रुप में चर्चा छिड़ी थी. जिसको लेकर कथित तौर पर जगदीश अकलाडे ने विधायक मंजुला गावित के खिलाफ अभद्र टिप्पणी कर दी. जिसकी ग्रुप की चर्चा में शामिल लोगों ने कड़ी निंदा की.

सोशल मीडिया पर फिसली शिक्षक की जबान

ग्रुप एडमिन ने मामले की गंभीरता को देखते हुए टिप्पणी और टिप्पणी करनेवाले जगदीश अकलाडे को ग्रुप से तत्काल हटा दिया. लेकिन तब तक ये मामला आग की तरह फैल चुका था. गुरुवार को इस मामले के तहत चूंकि विधायक शिवसेना की समर्थक हैं इसलिए शिवसेना कार्यकर्ताओं ने पिंपलनेर, साक्री तथा निजामपुर के पुलिस स्टेशन और विभागीय पुलिस अधिकारी  कार्यालय में जाकर विरोध प्रदर्शन किया और आरोपी की गिरफ्तारी का ज्ञापन दिया.

प्रदर्शन से ठप हुई थी यातायात

सूरत-नागपुर राष्ट्रीय महामार्ग पर बैठ कर कार्यकर्ताओं ने यातायात ठप कर दी. ग्राम दहिवेल में भी कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रीय महामार्ग बंद कर दिया और चेतावनी दी थी कि अगर आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई तो यातायात बेमियादी बंद कर दिया जाएगा.

सड़क पर उतरे कांग्रेस, एनसीपी के भी कार्यकर्ता

सत्ता में शामिल शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं ने भी प्रदर्शन किए. इस दरमियान आरोपी जगदीश अकलाडे फरार हो चुका था. तहसील में साक्री, पिंपलनेर, दहिवेल, निजामपुर जैसे बड़े शहरों में प्रदर्शन किया गया. शनिवार को फिर बैठक करके तीनों पार्टियों द्वारा संयुक्त ज्ञापन तैयार किया गया.जिसमें उक्त घटना की भर्त्सना की गई.

समर्थन के लिए गावित ने व्यक्त किया आभार

इस दरमियान उक्त घटना में माधव नान्द्रे की फरियाद पर आरोपी जगदीश अकलाडे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. भारतीय दंड विधान की धारा 500, सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 67 के अंतर्गत अपराध दर्ज किया गया है. बताया जा रहा है कि विधायक मंजुला गावित ने उनको समर्थन देनेवालों का आभार व्यक्त करते हुए गिरफ्तार आरोपी से माफी पत्र लेने के पश्चात उक्त घटना पर पर्दा डालने का आह्वान अपने सभी समर्थकों से किया है.