उत्तर महाराष्ट्र की पानी समस्या दूर करने बनेंगे बड़े बांध

  • छोटे प्रकल्पों को बढ़ावा देने के लिए कालबद्ध कार्यक्रम होगा कार्यान्वित
  • जलसिंचाई मंत्री जयंत पाटिल का प्रतिपादन

नाशिक. नाशिक व अहमदनगर जिले के जलसिंचाई विभाग के अंतर्गत होने वाले उत्तर महाराष्ट्र प्रदेश गोदावरी मराठवाडा पाटबंधारे विकास महामंडल व लाभ क्षेत्र विकास प्राधिकरण के पश्चिम वाहिनी नदियों का पानी पूर्व दिशा की ओर होने वाले गोदावरी खोरे में मोड़ने के कामकाज को लेकर आवश्यक चर्चा करने के लिए जलसिंचाई विभाग के प्रकल्पों का जायजा लेते हुए उत्तर महाराष्ट्र सहित मराठवाड़ा को पानी मिलने के लिए बड़े प्रकल्पों का शाश्वत, परिणामकारक नियोजन करें. साथ ही जिले के छोटे प्रकल्पों को बढ़ावा देने के लिए कालबद्ध कार्यक्रम कार्यान्वित करने का निर्देश जलसिंचाई मंत्री जयंत पाटिल ने अधिकारियों को दी. वे जिलाधिकारी कार्यालय के नियोजन सभागृह में आयोजित जलसिंचाई विभाग की जायजा बैठक को संबोधित कर रहे थे.

इस समय राज्य के अनाज, नागरी आपूर्ति मंत्री तथा जिले के पालकमंत्री छगन भुजबल, विधानसभा उपाध्यक्ष नरहरी झिरवाल, जिला परिषद अध्यक्ष बालासाहब क्षीरसागर, विधायक माणिक कोकाटे, दिलीप बनकर, हिरामण खोसकर, नितीन पवार, सरोज आहेर, राहुल आहेर, जलसिंचाई विभाग के सचिव एन. वी. शिंदे, जिलाधिकारी सूरज मांढरे, अधीक्षक अभियंता अलका अहिरराव, अधीक्षक अभियंता अरुण नाईक (अहमदनगर), अधीक्षक अभियंता आमले (धुलिया), ऊर्ध्व गोदावरी कार्यकारी अभियंता राहुल पाटिल, कार्यकारी अभियंता सागर शिंदे, नांदूरमध्यमेश्वर के कार्यकारी अभियंता राजेंद्र शिंपी आदि उपस्थित थे. मंत्री जयंत पाटिल ने आगे कहा कि महाविकास आघाड़ी की सरकार स्थापित होने के बाद नाशिक जिले के प्रकल्पों का सर्वेक्षण और अनुमति का माह में एक बार जायजा मंत्रालय स्तर पर लिया जा रहा है.

जल्द से जल्द यह प्रकल्प पूर्ण करने के लिए आर्थिक प्रावधान करने के साथ शेष कार्य के लिए सामित्व मंजूर करते हुए नाशिक, अहमदनगर जिले के वगलण बांध व लिफ्ट के कामकाज में सरकार विशेष ध्यान देकर कार्य पूर्ण करने का प्रयास कर रही है. गोदावरी खोने के प्रकल्पों का पानी नाशिक, अहमदनगर सहित जायकवाड़ी तक पर्याप्त तथा लगातार प्रवाहित रहने के लिए सरकार प्रयासरत है. जहां पर संभव है, वहां पर पानी मोड़ने के लिए प्रयास किया जा रहा है. छोटे और जल्द से जल्द पूर्ण होने वाले प्रकल्प तुरंत पूर्ण करने के लिए निधि का प्रावधन किया जाएगा. बड़े प्रकल्पों के लिए समय पर कर्ज निकालने का नियोजन किया जा रहा है. विधायकों के चुनाव क्षेत्र के चारियों का काम तथा कैनॉल की देखभाल व दुरुस्ती के काम अधिकारियों से चर्चा कर पूर्ण करें. इसके लिए 10 प्रतिशत निधि का प्रावधान किया गया है.

दिंडोरी व कलवन के प्रकल्पों का होगा दौरा

आगामी दिनों में दिंडोरी व कलवण चुनाव क्षेत्र के प्रकल्पों के कामकाज के लिए प्रत्यक्ष प्रकल्प दौरा किया जाएगा. जिले के पालकमंत्री छगन भुजबल ने कहा कि जिले के हर एक तहसील की प्याज बुझाने के लिए प्राथमिकता निश्चित कर प्रकल्पों का काम शुरू करें. सिन्नर में पीने के पानी की समस्या महत्वपूर्ण है. इसके लिए नियोजित योजनाओं का काम 6 माह में शुरू करें. राज्य में होने वाली बारिश का पानी राज्य के नागरिकों को मिलना चाहिए. विधायकों द्वारा सूचित किए गए छोटे प्रकल्पों के काम तुरंत पूर्ण करने के लिए कालबद्ध कार्यक्रम कार्यान्वित कर अधूरे काम पूर्ण करें. इस दौरान विधायक माणिक कोकाटे, दिलीप बनकर, हिरामण खोसकर, नितीन पवार, सरोज आहेर, राहुल आहेर आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किए.