lepord

    सटाणा. बागलाण तहसील के पिसोलबारी घाटी में एक युवक को अपना भोजन बनाने वाले नरभक्षक तेंदुए (Leopard) को वन विभाग (Forest Department) की टीम ने कैद कर लिया है। परिसर में और भी कई तेंदुओं के होने की बात वन विभाग के वनपरिक्षेत्र अधिकारी नीलेश कांबले ने कही। नंदिनी परिसर (Nandini Complex) के किसान नंदकिशोर धोंडू पवार अंडे लेने के लिए दिघावेगांव गया था। इस दौरान पिसोलबारी में घात लगातार बैठे तेंदुए ने उस पर हमला करते हुए उसका शिकार किया था।

    यह घटना सामने आने के बाद वन विभाग ताहाराबाद के वनपरिक्षेत्र अधिकारी नीलेश कांबले व उनके सहयोगियों ने जायखेड़ा पुलिस की मदद से परिसर का मुआयना किया था।  इसके बाद परिसर में पिंजरा लगाया गया जिसमें रविवार की रात को नरभक्षक तेंदुआ कैद हुआ।

    तकरीबन ढाई से तीन वर्ष के अत्यंत आक्रमक नरभक्षक तेंदुए को कैद करने में सफलता मिली है। पिसोलबारी घाटी में और भी कई तेंदुओं का संचार है। सावधानी के रूप में वहां पर पिंजरे लगाए गए हैं। किसानों को सर्तक रहना जरूरी है।

    -नीलेश कांबले, वन परिक्षेत्र अधिकारी

    तेंदुए के हमले में मृत हुए किसान को सरकारी आर्थिक मदद दिलाने के लिए प्रयास किया जा रहा है। किसानों को सर्तक रहते हुए नियमित कार्य करना जरूरी है।

    - श्रीकृष्ण पारधी, सहायक पुलिस निरीक्षक, जायखेड़ा