covid-19 LAB

    नाशिक. जिला सामान्य अस्पताल में (District General Hospital)  लैब (Lab) की क्षमता 800 है, लेकिन अब वहां एक स्वचालित मशीन स्थापित की गई है . एक बार सिस्टम चालू हो जाने के बाद परीक्षण क्षमता 5,000 तक हो जाएगी। साथ ही बिट्को हॉस्पिटल (Bitco Hospital) की लैब भी तेज गति से काम करेगी। बिटको की लैब भी 25 मार्च तक शुरू हो जाएगी, इसकी क्षमता भी 5000 होगी। इस तरह एक दिन में 10, 000 नमूनों की जांच करना संभव होगा। यह जानकारी जिला कलेक्टर सूरज मांढरे (Suraj Mandhare) ने दी। साथ ही इस लैब की क्षमता में वृद्धि के साथ, कान्टेक्ट ट्रेसिंग और स्वाब जांच बहुत आसान हो जाएगा।

    मांढरे ने कहा कि भीड़ पर लगाए गए प्रतिबंधों को नागरिक अच्छा प्रतिसाद दे रहे हैं, इसलिए उसमें कोई वृद्धि या कमी नहीं होगी। यह सभी प्रतिबंध जारी रहेंगे। साथ ही मास्क के मामले में, 1000 रुपए जुर्माना (Fine) लगाने का उद्देश्य नागरिकों को डराना नहीं था, बल्कि इस मुद्दे के बारे में नागरिकों में तत्काल जागरूकता पैदा करना था। जिला कलेक्टर सूरज मांढरे ने कहा कि इसके अलावा, अगर होम आईसोलेशन में रहने वाले मरीज नियमों का उल्लंघन करते पाए जाते हैं, तो उन पर आपदा प्रबंधन अधिनियम का उल्लंघन करने के लिए मुकदमा चलाया जाएगा।

    प्रशासन ने हाई अलर्ट घोषित कर दिया

    गौरतलब है कि जनवरी में कोरोना के नियंत्रण में आने के बाद, मार्च के पहले 11 दिनों में 4500 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इस स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने हाई अलर्ट घोषित कर दिया है। यही नहीं 12 मार्च को राज्य के मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस तथ्य पर चिंता व्यक्त करते हुए कि नाशिक में कोरोना का प्रसार 80 प्रतिशत की गति से बढ़ रहा है, प्रशासन ने नाशिक की स्थिति को देखते हुए युद्ध स्तर पर उपाय शुरू किए हैं। नाशिक जिला पुणे, सातारा, सांगली और उत्तरी महाराष्ट्र के अन्य जिलों में सबसे ऊपर स्थान पर है।