किसानों पर मुसीबत के छाए बादल

  • अंगूर के बागों को संभालना होगा कठिन

नाशिक. पिछले दो दिनों से मौसम में परिवर्तन हुआ है और बादल छाए रहने और बेमौसम बारिश होने के डर ने जिले के किसानों को झकझोर कर रख दिया है. विशेष रूप से निफाड़, दिंडोरी और नाशिक तहसील में अंगूर के बागों के लिये यह मौसम और बारिश कठिन हो सकती है. ऐसी संभावना जताई जा रही है.

अंगूर के बागों में कीटनाशक दवा छिड़कने की लागत भी बढ़ गई और फसलों को बचाने के लिये बागबानों को अधिक खर्च करना पड़ रहा है. ऐसे में बारिश हो जाती है तो अंगूर की बेलों को सुरक्षित कर पाना कठिन हो जाएगा. गुरुवार को सुबह 8 बजे के बीच निफ़ाड तहसील में ओझर में आधे घंटे तक बारिश हुई. तहसील के करसूल और वडाली गांवों में भी छिटपुट बारिश हुई. पिछले 2 दिनों से तहसील में बादल छाए रहने के कारण अंगूर उत्पादक चिंतित हैं. अगर अगले 2 दिनों तक को भी मौसम ऐसा ही रहा तो अंगूर के बाग मुश्किल में पड़ जाएंगी. अंगूर उत्पादकों को हर साल मुश्किल से बचाया जाता है.

दिवाली के बाद मौसम फिर से बदल रहा है. कुछ दिन बादल छाए रहे और बेमौसम बारिश से अंगूर उत्पादक त्रस्त हो सकते हैं. वर्तमान में अंगूर उत्पादक चिंतित हैं कि बादलों के मौसम से बागों में फफूंद जनित रोग हो जाएंगे और यदि बारिश होती है, तो फूलों की अवस्था में गुच्छे सड़ जाएंगे. बदले हुए वातावरण से दवाओं की कीमत भी और बढ़ेगी.