जनवरी आखिर तक जारी रहेगा कोविड नियोजन

  • नाशिक महानगर पालिका प्रशासन ने लिया निर्णय

नाशिक. नाशिक महानगर पालिका सीमा क्षेत्र में कोरोना संक्रमण नियंत्रित हुआ है, परंतु सरकार द्वारा घोषित कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को देखते हुए कोरोना नियोजन को जनवरी आखिर तक पूर्ववत रखने का निर्णय नाशिक महानगर पालिका प्रशासन ने लिया है।

बता दें कि राज्य में कोरोना का प्रकोप ध्यान में रखते हुए आपदा व्यवस्थापन कानून के अनुसार राज्य में कोरोना पीड़ितों का उपचार करने के लिए सरकार ने व्यवस्था की है। इसमें विशेष रूप से निजी अस्पताल में 80 प्रतिशत बेड आरक्षित कर उसके माध्यम से उपचार किए जा रहे हैं। इससे कोरोना संक्रमण कुछ हद तक कम हो गया है। सरकार द्वारा दिए गए आदेश के तहत मनपा ने तुरंत अस्पताल, अस्थायी कोविड अस्पताल, कोविड केयर सेंटर, कोविड हेल्थ सेंटर, फिवर क्लीनिक, कोरोना सर्वे सहत विविध उपाय योजना करते समय मानधन पर डॉक्टर सहित पैरामेडिकल स्टाफ नियुक्त किया।

कोरोना मरीजों में आई कमी

मनपा ने अपने और निजी अस्पतालों के जनरल, आयसीयू, ऑक्सीजन और वेंटीलेटर एवं बेडों की व्यवस्था की है। साथ ही इसकी जानकारी मनपा के संकेत स्थल पर अपडेट की है। शहर के मरीज कम होने के बाद भी की गई व्यवस्था कायम रखी गई है। राज्य सरकार ने राज्य में ठंड के मौसम में कोरोना की दूसरी लहर आने की संभावना व्यक्त की है। इसके तहत परिणाम दिखाई देने से मनपा और आरोग्य विभाग द्वारा किया गया नियोजन जस का तस रखने के बारे में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और मनपा आयुक्त कैलास जाधव की वीडीओ कॉफ्रेंसिंग हुई, जिसमें जनवरी 2021 तक मनपा और आरोग्य विभाग द्वारा कोरोना को लेकर किया गया नियोजन पूर्ववत रखने के आदेश ठाकरे ने दिए।