Customers are not leaving even after being unlocked, traders appeal to be careful

    नाशिक. नाशिक शहर (Nashik City) में कोरोना मरीजों (Corona Patients) की संख्या कम होने से प्रशासन (Administration) ने अनलॉक (Unlock) कर दिया है। ऐसा होने से व्यापारियों में उत्साह तो है लेकिन ग्राहकों की संख्या एक सप्ताह से केवल 25% ही रही है। बाजारों की स्थिति को पूर्व स्थिति में आने में समय लगेगा। पिछले सप्ताह सुबह 7 से दोपहर 2 बजे तक दुकानें खुली (Shops Open) रखने की अनुमति थी। 

    सोमवार 7 जून से सभी दुकानें सुबह 7 से दोपहर 4 बजे तक खुली रखने की अनुमति दे दी गई। ऐसा होने से ग्राहकों की संख्या बढ़ेगी ऐसा समझा जा रहा था।

    बिजली के बिलों में छूट दी जाए

    कोरोना की पहली लहर में स्थिति को पहले जैसे होने में कुछ समय लगा था। पिछले सप्ताह से केवल 25 प्रतिशत ग्राहक ही बाजारों में खरीददारी के निकल रहे हैं। कोरोना का डर बढ़ने से प्रशासन ने पहले वीकेंड लॉकडाउन लगाया था। दुकानें बंद होने के बाद भी बिजली के बिल अधिक आए हैं इसलिए बिजली के बिलों में छूट दी जाए ऐसी मांग व्यापारियों की ओर से की जा रही है। कुछ व्यापार का मौसम गर्मी का होने के कारण उनका भारी नुकसान हुआ है। अब उन व्यवसायों की स्थिति सुधरने में बहुत समय लगेगा। पहली और दूसरी लहर के अनुभव को देखते हुए नागरिकों को सावधान रहना होगा। अनलॉक हो जाने के बाद भी नागरिकों को प्रशासन द्वारा लगाई गई शर्तों का पालन करना होगा। ऐसा आह्वान व्यापारियों की ओर से किया गया है।

    महीने का खर्च अधिक है, उस पर दुकान बंद होने पर भी बिजली का बिल पूरा आया है। व्यापार करना कठिन हो गया है। हर प्रकार का नुकसान हो रहा है। पहली और दूसरी लहर के अनुभव को देखते हुए नागरिकों को नियमों का पालन करके व्यापारियों को सहयोग देना होगा।

    -राकेश शेवाले, व्यापारी