Black Fungus Updates: Dangerous cases of black fungus in Mumbai, 3 children had to have their eyes removed
Representative Picture

    नाशिक. मई-जून महिने में ब्लैक फंगस (Black Fungus) के मरीजों के लिए तुरंत उपचार नियोजन प्रणाली (Immediate Treatment Planning System) कार्यान्वित करने से मरीजों में 70 प्रतिशत कमी आने का दावा जिला शल्य चिकित्सक डॉ. अशोक थोरात (District Surgeon Dr. Ashok Thorat) ने किया है। मई महिने में अचानक मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई। इसके बाद तुरंत उपचार के लिए योग्य नियोजन प्रणाली स्थापित कि गई। जिला समन्वयक तथा कान, नाक, गला विशेषज्ञ डॉ. संजय गांगुर्डे (Dr. Sanjay Gangurde) ने नाशिक जिले के सभी निजी कान, नाक, गला विशेषज्ञ, दंत शल्य विशारद, नेत्र शल्य विशारद व दोनों वैद्यकिय महाविद्यालय, एसएमबीटी महाविद्यालय, डॉ. वसंत पवार वैद्यकिय महाविद्यालय, आडगांव नाशिक के साथ संपर्क किया। इसलिए मरीजों को आवश्यक शस्त्रक्रिया व्यवस्था कर आवश्यक इंजेक्शन की योग्य मात्रा में आपूर्ति की गई।

     नाशिक जिले में ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या मई महिने में सबसे अधिक हुई, जो 450 तक पहुंच गई थी। मरीजों के परिजन भयभीत हो गए थे। मरीजों पर आवश्यक ऑपरेशन कर दवाईयां वैद्यकीय महाविद्यालय व निजी अस्पतालों में उपलब्ध की। परिणामस्वरूप मई-जून महिने में हुई वृद्धि अब नियंत्रित हो गई है। दिनभर में केवल एक या दो मरीज सामने आ रहे है। अब तक 415 मरीजों का ऑपरेशन किया गया। 12 हजार से अधिक इंजेक्शन उपलब्ध किए गए है। 

    100 मरीजों को निशुल्क सेवा उपलब्ध की गई थी

    नाशिक महानगरपालिका के अंतर्गत आने वाले निजी अस्पताल व वैद्यकीय महाविद्यालयों को महात्मा ज्योतिबा राव फुले जन आरोग्य योजना के माध्यम से करीब 100 मरीजों को निशुल्क सेवा उपलब्ध की गई थी। मरीजों के स्वस्थ्य होने का प्रमाण अब 70 प्रतिशत से अधिक होने का दावा स्वास्थ्य विभाग ने किया है।