देसी राइफल से हिरण का शिकार, 2 संदिग्ध पकड़े

  • 5 कारतूस एवं देसी राइफल जब्त

मनमाड. देसी राइफल से गोली मारकर हिरण का शिकार किये जाने की सनसनीखेज घटना नांदगांव तहसील के जामधरी क्षेत्र में हुई. घटना की जानकारी मिलते ही वन विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे और उन्होंने 2 संदिग्ध आरोपियों को धरदबोचा. पकड़े गए आरोपियों के पास से एक देसी रायफल, 5 कारतूस, हिरण की मांस समेत अन्य वस्तु बरामद किये. हिरण का शिकार किये जाने की घटना का पता चलते ही पशु-पक्षी प्रेमियों में भारी आक्रोश है. आरोपियों को कड़ी सजा दिए जाने की मांग की जा रही है.

15 अक्टूबर तक हिरासत

गिरफ्तार किये गए आरोपियों को अदालत में हाजिर करने के बाद उन्हें 15 अक्तूबर तक हिरासत में दिए जाने की जानकारी वन विभाग के निरीक्षक दत्तात्रय बोरसे ने दी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार नांदगांव तहसील परिसर में सैकड़ों हेक्टेयर में वन विभाग का जंगल फैला हुआ है. इस जंगल में बड़े पैमाने पर हिरण, मोर, खरगोश, समेत अन्य वन्यजीव हैं. सबसे ज्यादा इस जंगल में हिरण पाए जाते हैं, इन हिरणों का शिकार किये जाने की कई घटनायें हो चुकी हैं. बीती रात जामधारी परिसर के जंगल में 2 शिकारियों ने देसी राइफल से हिरण को गोली मार दी. इसकी जानकारी वन विभाग को मिली. जानकारी मिलते ही निरीक्षक दत्तात्रय बोरसे, वनपाल तानाजी भुजबल,कुणाल वंडगे,ए.बी.राठौड़, प्रफुल पाटिल,अजय वाघ,बाबसाहेब सूर्यवंशी,नाना राठौड़,अशोक सोनवणे,राजेंद्र दौड,मार्गेपाड आदि अविलंब घटनास्थल की ओर दौड़ पड़े.

भाग रहे आरोपियों को धरदबोचा

उन्हें आता देख शिकारियों ने भागने का प्रयास किया लेकिन उनका प्रयास सफल नहीं हो पाया. वन विभाग के कर्मियों ने उन्हें धर दबोचा. पकडे़ गए आरोपियों के पास से देसी रायफल समेत अन्य हथियार एवं सामग्री बरामद की गयी. दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किये जाने के बाद उन्हें अदालत में हाजिर किया गया. अदालत ने इन आरोपियों को 15 अक्तूबर तक वन विभाग की कस्टडी में भेजा है.