हर्जाने में देरी, बैलगाड़ी से निकला आक्रोश मोर्चा

  • प्रदेश सरकार पर बोला हमला

धुलिया. राष्ट्रीय समाज पक्ष में बैलगाड़ी से आक्रोश मोर्चा निकालकर प्रदेश सरकार की उदासीनता के प्रति जमकर हमला बोला है. उन्होंने आरोप लगाया है कि सरकार समय काट रही है, जिसके कारण किसानों को अतिवृष्टि से हुए नुकसान का हर्जाना मिलने में देरी हो रही है. बिना किसी निकर्ष से किसानों को 50 हजार रुपये एकड़ के अनुसार नुकसान भरपाई देने की मांग पूर्व मंत्री माधव जानकार ने की है. इस संबंध में ज्ञापन डीएम को सौंपा है.

टालमटोल कर रही सरकार

जानकर ने कहा कि महाराष्ट्र राज्य में भारी बारिश हुई है.  कपास, मक्का,सोयाबीन, ज्वार, बाजरा, मूंगफली, प्याज आदि फसलें पूरी तरह नष्ट हो गई हैं.  कपास की फसल पर अत्यधिक वर्षा से लाल रोग का प्रकोप हुआ है. जब किसान के घर में फसल आ रही थी, उस समय भारी बारिश के कारण किसानों के हाथ में उपज केवल 25 प्रतिशत आयी है.

वित्तीय संकट में फंसा किसान

किसान बड़े वित्तीय संकट में फंस गया है. सरकार हर बार की तरह पंचनामा करने के नाटक में लग गई है.सरकार सिर्फ कागज की नाव दौड़ाने और समय लेने की नीति अपना रही है. राष्ट्रीय समाज पार्टी सरकार की भूमिका का विरोध करती है.सरकार के पास किसानों को आर्थिक सहायता करने रुपये धन नहीं है तो कर्ज निकालकर किसानों को मदद करे इससे पहले की सरकारों ने ऐसा किया है.

राहत देने घोषित करें गीला अकाल

किसानों के हितों की रक्षा करने आघाड़ी सरकार तत्काल गीला अकाल घोषित करें और किसानों को 50 हजार रुपये एकड़ हर्जाना देने की मांग उन्होंने की है.