साईं बाबा समाधि दर्शन के लिए ऑन लाइन दर्शन पास लें श्रद्धालु

  • पैदल आने वाले श्रद्धालु शिर्डी में पालकी न लाएं
  • साईं बाबा संस्थान की अपील

शिर्डी. श्री साईं बाबा समाधि का दर्शन करने के लिए आने वाले श्रद्धालु ऑन लाइन दर्शन पास लें. साथ ही पालकी लेकर पैदल आने वाले श्रद्धालु शिर्डी में पालकी लेकर न आएं, ऐसी अपील साईं बाबा संस्थान की ओर से की गई है. विश्व, देश और राज्य में कोरोना संक्रमण के चलते  प्रतिबंधात्मक उपाय योजना के रूप में सरकार ने लॉक डाउन किया.

इसके पहले 17 मार्च से श्री साईं बाबा समाधि मंदिर दर्शन के लिए बंद किया गया. 14 नवंबर को राज्य सरकार द्वारा दिए गए आदेश के तहत 16 नवंबर से श्री साईं बाबा समाधि मंदिर श्रद्धालु के दर्शन के लिए खोला गया. फिलहाल कोरोना का संकट अभी खत्म न होने से सभी श्रद्धालुओं को स्वास्थ्य की दृष्टि से सावधानी बरतना आवश्यक है. अवकाश के दिन श्रद्धालुओं की भीड़ न हो, इसलिए भक्तों ने दर्शन के लिए आते समय संस्थान के online.sai.org.in इस साइट पर ऑनलाइन दर्शन पास लेकर आएं.

ऑन लाइन पास निश्चित होने के बाद शिर्डी यात्रा का प्लान करें. साथ ही हर गुरुवार को शिर्डी और पंचकोशी में नियमित आने वाले श्रद्धालुओं दर्शन के लिए नि:शुल्क बायोमैट्रिक पास लेकर मंदिर में प्रवेश करें. मास्क का उपयोग न करने वाले भक्त, 10 वर्ष के नीचे होने वाले बच्चे, गर्भवती महिला और 65 वर्ष के ऊपर उम्र वाले व्यक्तियों को मंदिर में प्रवेश प्रतिबंधित है. साथ ही मंदिर में फूल, हार सहित अन्य पूजा साहित्य नहीं ले जा सकते.

कोरोना संक्रमण के चलते दर्शन के लिए कुछ ही श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश दिया जा रहा है. इसलिए ऑनलाइन बुकिंग निश्चित होने के बाद भी भक्त शिर्डी में दर्शन के लिए आएं. साथ ही बीमार होने वाले श्रद्धालू दर्शन के लिए न आएं. पालकी मंडल के पदाधिकारी पैदल यात्रा के साथ पालकी लेकर शिर्डी में न आएं, ऐसी अपील श्री साईं बाबा संस्थान विश्वस्त व्यवस्था, शिर्डी द्वारा की गई है.