वसूली के नाम पर कर्जदारों को न करें प्रताड़ित

भाजपा कार्यकर्ताओं ने की मांग

नायब तहसीलदार को ज्ञापन

साक्री. संकट में फंसे किसानों और व्यवसायियों को ऋण संस्थाओं द्वारा वसूली को लेकर प्रताड़ित नहीं किया जाना चाहिए. एेसी मांग लेकर भाजपा कार्यकर्ता  तहसील कार्यालय पहुंचे. पार्टी के तालुकाध्यक्ष वेडू सोनवणे और युवा मोर्चा के जिला कार्यकर्ता शैलेश आजगे ने नायब तहसीलदार अंगद आसटकर को ज्ञापन सौंपा. मानसिक तनाव के चलते कर्जदार का अप्रिय कदम संबंधितों की जिम्मेदारी रहेगी और आंदोलन छेड़कर प्रतिक्रिया होगी, ऐसी चेतावनी दी गई है. इस ज्ञापन का आशय है कि कोरोना महामारी और लाक डाउन के चलते किसानों समेत सभी व्यवसायीं और आम जनता पर वित्तीय संकट की बड़ी मार पड़ी है. 

वसूली के लिए मिल रही धमकियां

आम लोगों के जीवनयापन साधनों के अभाव में कठिन हो गया है. उन्हें धमकियां मिल रही हैं, बार-बार फोन कर परेशान किया जा रहा है. सरकार ने निर्देश दिया है कि वित्तीय संस्थाएं  ऋण की किस्तों की मांग नहीं करें. किस्तें लौटाने के लिए समय बढ़ाएं. परिस्थितियां सामान्य होने तक रियायत दी जाएं. इसलिए संबंधितों को उचित निर्देश दिए जाएं. अगर नहीं सुनते हैं तो उचित कानूनी कार्रवाई करें.ज्ञापन देने में वेडू सोनवणे, शैलेश आजगे, रंगनाथ भवरे, हर्षल नांद्रे, जितेंद्र गोसावी, शाहरुख पठान, बापू थोरात, कैलास गोसावी, अरबाज खाटिक, सुमित नांद्रे और पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित थे.