आंगनवाड़ी कर्मियों को न करें शामिल

  • मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी अभियान
  • आयटक ने की मांग

अमलनेर. प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी अभियान तहसील में शुरू किया गया है. सर्वेक्षण कार्यक्रम में आंगनवाड़ी कर्मियों को जबरन शामिल न किया जाए इस तरह का ज्ञापन अमलनेर  नगर पालिका प्रशासन को आयटक ने सौंपा हैं. नगर पालिका प्रशासन को सौंपे ज्ञापन में

आयटक ने बताया है कि महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना वायरस को काबू में करने के लिए 15 सितंबर से 25 अक्टूबर तक मेरा परिवार मेरे जिम्मेदारी अभियान चलाया जा रहा है. इस अभियान में हर गांव मोहल्ले में प्रतिदिन आंगनवाड़ी आशा वर्कर द्वारा 50 परिवारों का सर्वेक्षण कराने के निर्देश दिए गए हैं. आंगनवाड़ी आशा वर्करों के लिए पहले मोबाइल ऐप अन्य जानकारी कार्य दिए गए हैं. इसी के साथ मेरा परिवार मेरा जिम्मेदारी अभियान की अतिरिक्त जिम्मेदारी से कर्मियों की परेशानियां बढ़ी है.

गर्भवती महिलाओं को अधिक खतरा

इसी तरह से इन कर्मियों में 50 वर्ष से अधिक के कर्मी और गर्भवती महिलाएं और माताएं भी हैं. उन्हें संक्रमण होने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता. आंगनवाड़ी आशा वर्करों का जबरदस्ती इस अभियान में शामिल न किया जाए, इस तरह की मांग का ज्ञापन अंमळनेर नगरपरिषद मुख्याधिकारी संदीप गायकवाड  को अमलनेर शहर आंगनवाड़ी बालवाड़ी कर्मचारी यूनियन पदाधिकारी ज्योति पाटिल, सुदर्शन पाटिल, कलाबाई बनसोडे रेखा  पाटिल, सुनंदा पाटिल साधना शार्दुल योगिता पाटिल,रजनी पाटिल, अनिता खैरनार सहित अन्य सहयोगियों ने सौंपा है.