घर चलाने हर कोई बेच रहा सब्जी व फल

नाशिक. कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए लॉकडाउन लागू किया गया है. परिणामस्वरूप लगभग सभी व्यवसाय बंद हो गए हैं, इसलिए नागरिक अपने परिवार का भरण-पोषण करने के लिए सब्जी और फल बेच रहे हैं. इसके चलते पिछले डेढ़ माह में सब्जी और फल बेचने वालों की संख्या बड़े तौर पर बढ़ गई है. 

बता दें कि जिले के विविध क्षेत्रों से नाशिक कृषि मंडी समिति में सब्जी नीलामी के लिए आती है. साथ ही पेठरोड के मार्केट में फलों की विविध राज्यों से आवक होती है. खुदरा सब्जी बिक्रेताओं की भीड़ को देखते हुए मंडी समिति परिसर में खुदरा सब्जी बिक्री बंद कर दी है. यह बाजार अब पेठरोड के नजदीक शुरू किया गया है. यहां सब्जी बिक्रेता सब्जी खरीदी के लिए आते हैं. अत्यावश्यक सेवा को छोड़कर लॉकडाउन की शुरुआत में सभी दुकानें बंद थीं. 

रोजगार न होने से लोगों ने ढूंढा रास्ता

इस दौरान रोजगार न होने से अधिकांश नागरिकों ने अपने परिवार का भरण पोषण करने के लिए सब्जी बिक्री शुरू कर दी, जिसकी संख्या आज हजारों में है. गणेशवाडी स्थित सब्जी मंडी में शुरुआत में नियमों का पालन कर दुकानें लगाई गई थीं, लेकिन सब्जी बिक्रेताओं की संख्या बढ़ने से चिपक-चिपक कर दुकानें लगाई जाने लगी हैं. विविध जगहों पर बैठने वाले विशेषतः सड़कों पर बैठने वाले सब्जी बाजार को नियंत्रित करने में मनपा और पुलिस प्रशासन को सफलता नहीं मिली है. सड़कों पर जहां पर भी जगह मिले, वहां पर फल और सब्जी बिक्री शुरू है. सब्जी बिक्री को कम समझने वाले अधिकतर नागरिक आज की स्थिति में सब्जी बेचते हुए दिखाई दे रहे हैं. यह कार्य वह केवल अपने परिवार का भरण-पोषण करने के लिए कर रहे हैं.