निर्यात करने वाले अंगूर के बागों का होगा पंजीकरण

  • कृषि विभाग ने किया आह्वान

नाशिक. 2020-21 में यूरोपियन यूनियन और अन्य देशों को अंगूर निर्यात करने के लिये पंजीकरण करवाना आवश्यक कर दिया गया है, जिससे कीटनाशक के बचे हुए अंश और कीट रोग की हमी देने के लिये ग्रेपनेट द्वारा निर्यात योग्य अंगूर के बागों का पंजीकरण किया जा रहा है.

इच्छुक बागवान अपने अंगूर के बागों का पंजीकरण करवा लें, ऐसा आह्वान कृषि विभाग द्वारा किया गया है. निर्यात योग्य बागों का पंजीकरण करने के लिये ग्रेपनेट नामक ऑनलाइन प्रणाली शुरू की गई है. सन 2020-21 के लिये पंजीकरण के लिये तहसील कृषि अधिकारियों के पास अर्ज करने का आह्वान जिला कृषि अधीक्षक अधिकारी संजीव पडवल, कृषि उपसंचालक कैलास शिरसाठ ने किया है.