कलवण में किसानों ने जताया गुस्सा

  • आयकर विभाग की कार्रवाई का दिखा असर

कलवण. आयकर विभाग की कार्रवाई के बाद प्याज के दामों में गिरावट शुरू हो गई है. सरकार की किसान विरोधी भूमिका के कारण किसानों में गुस्सा उबल रहा है. प्याज के 5000 रुपये से अधिक दाम होते ही किसान व्यापारियों को दोषी मान रहे हैं. जिसका परिणाम गुरुवार, 15 अक्टूबर को कलवण, अभोणा, कनाशी की मंडी समितियों में देखने को मिला.

प्याज के दामों में भारी गिरावट आ गई है. गुरुवार को कलवण में सुबह के सत्र में देशी सुपर प्याज के दाम 5200 से 5670 रुपये थे. वहीं न्यूनतम भाव 4700 से 4800 रुपये थे. गोल प्याज 4000 से 4200 रुपये थे. बड़ी प्याज के दाम 4000 से 4500 रुपये थे. वहीं खाद 2000 से 3240 रुपये में थी. गुरुवार को 246 ट्रैक्टर प्याज की आवक हुई.

अभाणा में सुबह के सत्र में प्याज  की कीमत 2000 से 3200 रुपये तो उच्च क्वालिटी की प्याज 4800 से 5500 रुपये थी. मध्यम क्वालिटी की प्याज 4200 से 4800 रुपये तो सर्व साधारण प्याज 3300 से 3800 रुपये प्रति क्विंटल थी. मनमाड मंडी समिति में गुरुवार को 1500 क्विंटल प्याज की आवक हुई. सुबह के सत्र में गर्मी की प्याज का प्रति क्विंटल न्यूनतम 1000 रुपये और अधिकतम 4276 रुपये तो लगभग दाम 3800 रुपये भाव मिले. गर्मी की गोल प्याज 2702 रुपये, न्यूनतम 4001 तो लगभग दाम 3601 रुपये प्रति क्विंटल मिले.