सौर ऊर्जा परियोजना के लिए 10 एकड़ भूमि दे  सरकार

मालेगांव. मालेगांव मनपा के गिरणा डैम पंपिंग स्टेशन पर सौर ऊर्जा परियोजना के निर्माण के लिए आवश्यक 10 एकड़ भूमि उपलब्ध कराई जानी चाहिए. मालेगांव मनपा को पानी की आपूर्ति करने वाले गिरणा पंपिंग स्टेशन पर 500 हार्स पावर के कुल 8 पंप स्थापित किए गए हैं, जिसके माध्यम से मालेगांव शहर में 80 से 90 प्रतिशत पानी की आवश्यकता गिरणा बांध से पूरी होती है. गिरणा डैम पर काम करने वाले 8 पंपों का बिजली बिल प्रति माह 50 से 55 लाख रुपये है. इसमें लगभग 2.5 मेगावाट बिजली का उपयोग भी किया जाता है. यह पर्यावरण प्रदूषण भी पैदा कर रहा है.

बिजली के बिलों पर मनपा सालाना 60 करोड़ रुपये खर्च करती है. यदि महाराष्ट्र सरकार मनपा को जमीन मुहैया कराती है, तो मालेगांव मनपा को वित्तीय लाभ मिलेगा. मनपा को सालाना 60 करोड़ रुपये के बिजली बिलों की बड़ी राशि से छुटकारा मिलेगा जिससे पैसे की बचत होगी. मालेगाँव शहर के लोगों को भी इसका सीधा लाभ होगा. पानी सस्ते और अच्छी मात्रा में समय पर उपलब्ध होगा. इसलिए, महाराष्ट्र सरकार को सिंचाई विभाग द्वारा गिरणा डैम पंपिंग स्टेशन पर 10 एकड़ ज़मीन उपलब्ध करानी चाहिए. मालेगांव मनपा द्वारा ऐसी मांग की जा रही है. मेयर के पत्र पर सिंचाई मंत्री जेटली पाटिल से मुलाकात के दौरान पूर्व विधायक आसिफ़ शेख ने ये जानकारी दी. 

शेख आसिफ ने कहा कि सामाजिक जिम्मेदारी पर्यावरण संरक्षण और वित्तीय बचत के तीन सिद्धांतों के आधार पर, मालेगांव मनपा के जनरल बोर्ड ने सौर ऊर्जा परियोजना शुरू करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. सौर ऊर्जा परियोजना से बिजली उत्पन्न होगी और इसका उपयोग मालेगांव मनपा की जलापूर्ति योजना से गिरणा बांध द्वारा नागरिकों को किया जाएगा. इस परियोजना के लिए बड़ी मात्रा में जगह की आवश्यकता होती है और इस तरह के प्रोजेक्ट को पावर प्लांट के करीब होना चाहिए. लेकिन मालेगांव मनपा के पास कोई भी जमीन पावर प्लांट के लिए उपलब्ध नहीं है. हालांकि, गिरणा पंपिंग स्टेशन व महाराष्ट्र जीवन प्राधिकरण के नियंत्रण में आता है. हम मांग करते हैं कि सौर ऊर्जा परियोजना के लिए मालेगांव मनपा को 10 एकड़ उक्त सरकारी भूमि प्रदान की जाए.