ज्यादा देर टिक न सकी खुशी, फिर दहशत

2 मरीजों ने जीती कोरोना से जंग

कोरोना मुक्त की खबर के बाद मनमाड में मिली पोजिटिव

मनमाड. कोरोना की चपेट में आये आखिरी दो मरीज भी पूरी तरह ठीक होने के बाद मनमाड शहर कोरोनामुक्त हो गया है.नाशिक जिलाधिकारी सूरज मांढरे ने पुष्प देकर इन दोनों मरीजों द्वारा कोरोना को पराजित किये जाने पर उन्हें बधाई दी. लेकिन लोगों की यह ख़ुशी ज्यादा देर न टिक सकी. कुछ घंटों बाद ही एक महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आने की खबर से शहर में दोबारा खलबली मच गयी. मनमाड शहर में 2 मई को यहां कोरोना का पहला मरीज पाया गया. उसके बाद समय-समय पर कोरोना के मरीज पाए जाने लगे और संख्या 51 तक जा पहुंची.मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए नपा प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग पुलिस अधिकारी, कर्मी इन सभी ने मिलकर कोरोना की बढ़ती संख्या पर अंकुश लगाने हेतु विभिन्न उपाय किये. 

कोरोना को रोकने जनता का मिला सहयोग

इन सभी विभागों के अधिकारी-कर्मियों को जन प्रतिनिधि एवं लोगों का भी उतना ही सहयोग मिला. जिसके कारण सवा लाख आबादी वाले इस शहर में कोरोना को बढ़ने से रोकने में सफलता, जिनजो 51 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आये थे. उनका अच्छी तरह से इलाज किये जाने के बाद सभी ने कोरोना को पराजित किया. आखिरी शेष बचे हुए दो मरीज भी पूरी तरह ठीक होने के बाद उन्हें डिस्चार्ज देते वक्त नाशिक के जिलाधिकारी सूरज मांढरे मनमाड आये और उन्होंने कोरोना को पराजित किये जाने को लेकर इन मरीजों को बधाई दी. साथ ही शहर को कोरोना मुक्त किये जाने के लिए नपा प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग के जिन अधिकारी और कर्मियों ने उपाय किए थे. 

अधिकारियों-कर्मचारियों का स्वागत

उन सभी का भी जिलाधिकारी ने अभिनंदन किया. इस अवसर पर पूर्व नगराध्यक्ष गणेश धात्रक,मुख्याधिकारी डॉ.दिलीप मेणकर उप जिला अस्पताल के वैद्यकीय अधीक्षक डॉ जी एस नरवणे,नोडल ऑफिसर डॉ रवींद्र मोरे, मंडल अधिकारी कैलाश चौधरी नपा के अजहर शेख आदि उपस्थित थे. ठीक हुए मरीज और शहर को कोरोनामुक्त बनाने वाले अधिकारी,कर्मियों का अभिनंदन करके अभी जिलाधिकारी मनमाड से नाशिक भी नहीं पहुंचे थे कि शहर के जमधाडे में रहनेवाली एक महिला की रिपोर्ट  पॉजिटिव आने की खबर आई. इस खबर ने सभी को दोबारा चिंता में डाल दिया. शहर में महिला मरीज पाए जाने से अधिक समय तक नगरवासियों की खुशी टिक न सकी. एक बार फिर से शहरवासियों में खलबली मच गई है. 

कोरोना मुक्त का युद्धस्तर पर प्रयास

शहर को कोरोना मुक्त करने का युद्धस्तर पर प्रयास चल रहा है और हमें इसमें सफलता भी मिल चुकी थी, अाखिरी दो मरीजों के ठीक होने के बाद मनमाड़ पूरी तरह से कोरोना मुक्त हो गया था, लेकिन महिला की रिपोर्ट निगेटिव आने से थोड़ी निराशा हुई है. फिर भी कोरोना मुक्त के लिए प्रयास चल रहा है. हम जरूर सफल होंगे.

डा. दिलीप मेनकर 

मुख्य अधिकारी नपा