घर पर ही होगी मरीज की स्वास्थ्य जांच

  •  मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी अभियान को सफल बनाएं
  • डीएम ने की स्वास्थ्य टीमों से सहयोग की अपील

धुलिया. जिले में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या दिन प्रति दिन बढ़ती जा रही है. संक्रमण नित नए इलाकों में दस्तक दे रहा है. इसे काबू में करने  के लिए सरकार की महत्वाकांक्षी योजना मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी अभियान को जिले में दो चरणों में मंगलवार से चलाया जा रहा है. जनप्रतिनिधियों और नागरिकों की सक्रिय भागीदारी के साथ कोरोना को नियंत्रण में लाने के लिए शुरू किया गया है. इस अभियान को मिशन के रूप में चलाया जाए, इस अभियान के माध्यम से हर नागरिक के स्वास्थ्य की जांच की जाएगी. 

कोरोना वायरस के लक्षणों वाले मरीजों को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया जाए और स्वास्थ्य विभाग को सावधानीपूर्वक योजना बनाने का निर्देश जिला कलेक्टर संजय यादव ने दिया है. कलेक्ट्रेट कार्यालय में जिलाधिकारी संजय यादव ने जनप्रतिनिधियों तथा अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि ‘मेरा परिवार – मेरी ज़िम्मेदारी’ अभियान के तहत, स्वास्थ्य विभाग की  टीम जिले के हर गांव और मोहल्लों तक पहुंचेगी. टीम हर नागरिक के स्वास्थ्य की जांच करेगी.

 दो चरणों में चलेगा अभियान

घर के दौरे के लिए स्वास्थ्य टीमों का गठन संबंधित स्वास्थ्य प्रणाली द्वारा किया जाए. टीम में एक स्वास्थ्य कार्यकर्ता और दो स्वयंसेवक स्थानीय जन प्रतिनिधियों द्वारा दिए जाएंगे.  टीम रोजाना कम से कम 50 घरों का दौरा करेगी. इसके तहत व्यक्ति के तापमान और ऑक्सीजन की जांच की जाएगी.  

कोरोना जैसी बीमारी के लक्षण वाले जैसे बुखार, खांसी, सांस की तकलीफ, कम ऑक्सीजन का स्तर होने पर मरीज को निकटतम अस्पताल कोविड सेंटर में भर्ती कराएं, ताकि कोरोना से पीड़ित रोगियों को तत्काल उपचार प्रदान करना संभव हो और इसके लिए प्रयास करें, इस प्रकार के निर्देश  कलेक्टर  यादव द्वारा दिया गया.

24 अक्टूबर को अभियान का समापन

अभियान दो चरणों में पूरा कराया जाएगा जिसका समापन 24 अक्टूबर को होगा. इस जांच अभियान में नागरिकों के साथ में जिला प्रशासनिक अधिकारी भी शामिल होंगे.अभियान की देखरेख चिकित्सा अधिकारी करेंगे.डीएम ने नागरिकों को इस अभियान में सहयोग करने की अपील की है. उन्होंने कहा कि इस अभियान की 8 दिनों में समीक्षा की जाएगी.

जोखिम वाले मरीजों की तुरंत कराएं जांच

कोरोना वायरस के लक्षणों वाले मरीजों को आइसोलेशन वार्ड में रखें.उच्च जोखिम वाले रोगियों और उनके संपर्क में आये लोगों की प्राथमिकता से कोरोना परीक्षण कराया जाए, इस तरह के निर्देश  कलेक्टर यादव ने चिकित्सा कर्मी तथा अन्य अधिकारियों को दिया है. इस अवसर पर महापौर  सोनार, जिला परिषद अध्यक्ष डॉ. रंधे, विधायक काशीराम पावरा, श्रीमती गावित आदि ने विभिन्न प्रकार की सूचना से ज़िला प्रशासन को अवगत कराया है.

इस समीक्षा बैठक में जिला परिषद आरोग्य सभापति मंगलाताई पाटिल, मुख्य कार्यकारी अधिकारी वान्मथी सी., महानगर पालिका आयुक्त अजीज शेख, निवासी उपजिलाधिकारी संजय गायकवाड, उपविभागीय अधिकारी भीमराज दराडे (धुलिया), डॉ. विक्रम बांदल (शिरपुर), जिला शल्य चिकित्सक डॉ. माणिक सांगले, जिला परिषद अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी संदीप मालोदे, जिला आरोग्य अधिकारी डॉ. शिवचंद्र सांगले, कोरोना बनोडल अधिकारी डॉ. विशाल पाटिल, महानगर पालिका उपायुक्त गणेश गिरी, शांताराम गोसावी सहित अन्य सभी अधिकारी मौजूद थे.