home quarantine

    देवला. देवला तहसील (Devla Tehsil)  में कोरोना संक्रमित मरीजों (Corona Infected Patients) को उनके घर में रखकर ही उपचार किया जाएगा, लेकिन ऐसे होम क्वारंटाइन (Home Quarantine) मरीजों के हाथों पर मुहर लगाई जाएगी। बाहर दिखाई देने पर उन पर मुकदमा चलाया जाएगा। देवला में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुभाष मांडगे (Health Officer Dr. Subhash Mandge) ने यह जानकारी दी। इस समय डॉ. मांडगे ने तहसील में कोरोना की स्थिति और उपायों के बारे में भी जानकारी दी।

    तहसील में 17 तारीख को शाम 5 बजे तक प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार, 243 रोगियों का इलाज चल रहा है, जिसमें से 226 रोगियों का इलाज घर पर किया जा रहा है। घर पर इलाज करा रहे मरीजों को 5 दिन की दवा दी जाती है। इसके बाद 14 दिनों तक संपर्क नहीं किया जाता है। इन रोगियों को सिर्फ 5 दिनों के बाद सार्वजनिक स्थानों पर घूमते देखा जाता है, जिससे कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। 

    7 स्थानों पर टीकाकरण की सुविधा 

    डॉ. मांडगे ने कहा कि देवला तहसील में 7 जगहों पर टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। नागरिकों को टीकाकरण के लिए अधिक दूर जाने की जरुरत न पड़े और एक ही जगह पर भीड़ ना हो, इसलिए खर्डा, मेशी, खामखेडा,  दहिवड, लोहणेर और ग्रामीण अस्पताल उमराणे और देवला में सोमवार से शनिवार सुबह 8 से 11 बजे तक एंटीजन और आर्टिफिशियल टेस्ट किया जाता है। 9 से 4.30 बजे तक टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। अब तक लगभग 4,745 लोगों को टीका लगाया गया है, जिनमें 60 वर्ष के 2384, पुरानी बीमारी के मरीज 45-50 आयु वर्ग में 141 और आपातकालीन सेवा देने वाले 2220 नागरिक शामिल हैं।

    देवला में कोरोना पीड़ितों की स्थिति 

    तहसील में रोगियों की कुल संख्या 1404 है और इसमें नगर परिषद क्षेत्र के 466 और ग्राम पंचायत क्षेत्र के 938 रोगी शामिल है। आज तक 1134 रोगी ठीक हो गए हैं और 27 मरीजों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। 243 रोगी उपचार करा रहे हैं। कोविड केअर सेंटर में 2 मरीज, DCHC में 2 मरीज, DCH में 3 मरीज, 10 मरीज निजी अस्पतालों में भर्ती हैं, जबकि 226 मरीज़ों का घर पर इलाज चल रहा है।

    दहिवाड में ‘जनता कर्फ्यू’

    देवला तहसील में कोरोना का प्रकोप हर दिन बढ़ता जा रहा है। यहां दहिवाड में 41 लोगों का इलाज चल रहा है। दहिवाड़ गांव कोरोना का हॉट स्पॉट बन गया है और स्थानीय प्रशासन ने 3 दिन का ‘जनता कर्फ्यू’ लगाने का फैसला किया है।