Remedesivir injection

    नाशिक. जिले में 10 उत्पादक कंपनियों की ओर से अस्पतालों को वर्तमान में 80.91 मैट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन (Oxygen) की आपूर्ति की जा रही है। स्वास्थ विभाग (Health Department) की ओर से इस मात्रा को देखते हुए मरीजों (Patients) की बढ़ती संख्या के हिसाब से 56 मैट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन बढ़ाने की मांग की गई है।

    80.91 मैट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन का वितरण करने के बाद भी 28.44 मैट्रिक टन का भंडारण बच रहा है। दवाईयों और ऑक्सीजन की उपलब्धता करने की दृष्टी से मार्गदर्शन और उत्पादक, वितरक और अस्पतालों के प्रतिनिधियों के साथ संपर्क किया जा रहा है। साथ ही प्रशासन की सहायक आयुक्त माधुरी पवार ने कहा है कि  सरकारी दवाखानों में 5820 रेमडेसिविर इंजेक्शन बचा हुआ है।

    जरूरत पड़ने पर मरीजों को लगेगा इंजेक्शन

    प्रशासन की सहायक आयुक्त माधुरी पवार (Madhuri Pawar) के अनुसार, सरकारी दवाखानों में 5820 रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remedicivir Injection) का स्टॉक बचा हुआ है जो जरूरत पड़ने पर मरीजों को लगाया जा रहा है। उनका कहना हैं कि आने वाले दिनों में यदि मरीजों की संख्या इसी प्रकार बढ़ती रही तो रेमडेसिविर की मात्रा को दोगुना तिगुना करना होगा। दवाईयों और मेडिकल ऑक्सीजन के संदर्भ में कोई कठिनाई होने पर 9850177853, 9869114998 और 8780186682 इन फोन नंबरों पर संपर्क करने की अपील प्रशासन की सहायक आयुक्त माधुरी पवार ने की है।