खंडेलवाल को वापस मिला ठगी का पैसा

साइबर पुलिस ने किया कड़ी मेहनत

धुलिया. साइबर शातिरों के जाल में फंसे एक व्यक्ति ने तीस हजार रुपये गवां दिए.लेकिन उसके द्वारा तत्काल सूचना देने पर साइबर सेल ने तीस हजार रुपये डूबने से बचा लिया. इस प्रकरण में पुलिस अधीक्षक चिन्मय पंडित और साइबर क्राइम पुलिस के प्रयासों से पीड़ित व्यक्ति के खाते में 30 लाख रुपए हस्तांतरित हो गए. पुलिस अधीक्षक चिन्मय पंडित ने बताया है कि गत 15 फरवरी को दीपक विजय खंडेलवाल को फर्जी कस्टमर केयर अधिकारी ने बातों में उलझा कर उनसे ऑनलाइन पासवर्ड लेकर 30 हजार 813 रुपये निकाल लिए.

इसकी शिकायत खंडेवाल ने तत्काल साइबर क्राइम पुलिस से की. इसके बाद खंडेलवाल ने संबंधित बैंक कंपनी से संपर्क किया. बैंक में आवश्यक कागजों को जमा किया. छानबीन के बाद उनके बैंक अकाउंट में तीस हजार 830 रुपये वापस जमा किया गया.  यह सफलता पुलिस की कड़ी मेहनत के कारम संभव हो सकी. दीपक खंडेलवाल ने पुलिस अधीक्षक चिन्मय  पंडित अपर पुलिस अधीक्षक डॉ राजू भुजबल साइबर पुलिस कर्मी रितेश चौधरी दिलीप वसावे का आभार प्रकट किया है.

साइबर ठगी के शिकार होने पर अगर तत्काल सूचना मिल जाती है तो साइबर सेल बैंक और अन्य कंपनियों से संपर्क कर रुपए वापस दिलाने का प्रयास साइबर क्राइम पुलिस करती  हैं.

चिन्मय पंडित पुलिस अधीक्षक धुलिया