Without Mask Fine

    नाशिक. शहर में मनपा के दस्ते ही नहीं, बल्कि पुलिस (Police) ने भी उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करनी शुरू कर दी है, जो मास्क (Masks) नहीं लगा रहे हैं। अब तक 200 रुपए का जुर्माना (Fine) लगाया जा रहा था, लेकिन सोमवार से 1000 रुपए जुर्माना कर दिया गया है। 

    अब तक 22 हजार रुपए का जुर्माना वसूला गया है। इसके अलावा पालक मंत्री छगन भुजबल (Chhagan Bhujbal) ने  बताया कि जो लोग मास्क नहीं पहन रहे हैं, उनके खिलाफ मामले दर्ज किए जा रहे हैं। 

    समारोहों में भीड़ पर होगी कार्रवाई 

    कोरोनों के बढ़ते मामले को लेकर यह निष्कर्ष निकाला गया है कि शादी समारोहों में भीड़ के कारण कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है और पुलिस को विवाह समारोहों में जाने और भीड़ को नियंत्रित करने की कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है। इसके अलावा भुजबल ने मंगल कार्यालयों में विवाह समारोहों पर प्रतिबंध का भी संकेत दिया है।

    मास्क का उपयोग अनिवार्य  

    जिले में जैसे ही कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ने लगी, पालक मंत्री भुजबल ने समीक्षा बैठक की। बाद में उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि लोग मास्क पहनने को लेकर गंभीर नहीं है। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए मास्क का उपयोग अनिवार्य है। इसलिए सोमवार से मास्क नहीं पहनने वालों से 1,000 रुपये का जुर्माना वसूलने का निर्णय लिया गया। रविवार तक मनपा की टीम कार्रवाई कर रही थी और 200 रुपए का जुर्माना वसूल रही थी, लेकिन सोमवार से पुलिस भी उन लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई में जुट गई है, जो मास्क नहीं पहनते हैं। इनसे 1000 रुपए जुर्माना वसूला जाएगा। इसके अलावा मामला भी दर्ज किया जाएगा।

    रडार पर शादी समारोह

    हजारों लोग शादी समारोहों में भाग ले रहे हैं। लोग गोधूलि मुहूर्त पर समारोहों में घंटों बिताते हैं। इससे कोरोना संक्रमण में भी वृद्धि होती है, इसलिए लॉन्स संचालकों गोधूलि मुहूर्त पर शुभकार्यों के ऑर्डर ना लें, ऐसी भुजबल ने अपील की है। कई लोग सुबह शादी और शाम को खाने की दावत रखते हैं, जिसमें सैकड़ों लोग जमा होते हैं। जबकि यह स्पष्ट किया गया है कि केवल 100 लोगों को समारोह में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी। विवाह समारोह के लिए पुलिस की अनुमति अनिवार्य होगी। शादी में नियमों का पालन किया जा रहा है या नहीं, इसकी जांच के लिए पुलिस को मंगल कार्यालय लॉन में भी जाना चाहिए। नियमों का पालन नहीं करने पर कार्रवाई करने के आदेश जारी किए गए हैं। हम इस तरह की कार्रवाई नहीं करना चाहते हैं। हालांकि, भुजबल ने स्पष्ट किया कि कार्रवाई अनिवार्य थी क्योंकि लोग नहीं सुन रहे थे।

    शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया है और पूरे जिले में कार्रवाई की जाएगी। यदि नागरिक नियमों का पालन नहीं करते हैं, तो प्रतिबंध कड़े किए जाएंगे। हम रात 8 बजे से कर्फ्यू लगाने की भी तैयारी कर रहे हैं।

    - छगन भुजबल, पालक मंत्री