Indian-origin couple died due to electrocution in South Africa, had married a few days ago
Representative Photo

    शिर्डी. साईं बाबा संस्थान (Sai Baba Institute) के कोविड केंद्र (Covid Center) में कुछ दिनों के इलाज (Treatment) के बाद छुट्टी पाए मरीज की मौत (Death) केंद्र से कुछ दूर सड़क के किनारे हो गई। मृतक की पहचान 71 वर्षीय नाथूराम दलवा अहिरराव के रूप में हुई। वह मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के छतरपुर का रहने वाला है और जिले में साईं संस्थान के शैक्षणिक परिसर के निर्माण में काम कर रहा है। नाथूराम को 3 दिन पहले साईं संस्थान के साईंनाथ अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। उसका कोविड परीक्षण पॉजिटिव आने के बाद उसे संस्थान के कोविड अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया था। 

    वहां उसकी हालत में सुधार होने पर उसे घर जाने के लिए छुट्टी दे दी गई थी। वह अपनी बेटी के पास जाना चाहता था। नाथूराम की बेटी मनबाई ने शनिवार की दोपहर 12.30 बजे नाथूराम को अस्पताल से निकाला और पास ही पेड़ के नीचे बैठकर आराम कर रहा था कि उसकी मौत हो गई। कोविड के रोगी की मृत्यु हो जाने के कारण नागरिक घटनास्थल पर पहुंच गए।

    हुआ था कोरोना

    इसके बाद डॉ. मैथिली पितांबरे, सहायक पुलिस निरीक्षक दीपक गंधले, शिर्डी नगर पंचायत के मुख्य लिपिक मधुकर देसले और अन्य लोग मौके पर आए और स्थिति को संभाला। इसके बाद नगर पंचायत के कर्मचारियों ने शिर्डी के अमरधाम में अंतिम संस्कार किया। स्वास्थ्य खराब होने के कारण नाथूराम को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 3 दिन पहले ही उसे वहां से कोविड केंद्र लाया गया था। शनिवार की सुबह उसने नाश्ता किया और डॉक्टर ने उसे छुट्टी दे दी।

    संस्थान के कोविड अस्पताल में मरीज का इलाज चल रहा था। उसके रिश्तेदारों ने उसे छुट्टी देने की जिद की तो उसका स्वास्थ्य ठीक होने पर उसे केंद्र से छोड़ दिया गया। केंद्र से बाहर वह खुद चलकर गया, उसकी स्थिति ठीक-ठाक थी। वे लोग कुछ देर आराम के लिए एक पेड़ के नीचे बैठे थे कि वहीं उसकी मौत हो गई।

    -डॉ. मैथिली पितांबरे, चिकित्सा अधीक्षक