मजदूरों से भरी पिकअप पलटी, 2 की मौत, 45 मजदूर घायल

  • 20 की हालत गंभीर
  • 12 वर्ष का मासूम मृतकों में शामिल
  •  रोजगार की तलाश में मध्य प्रदेश से आ रहे थे मजदूर
  • ओवरलोड होने से फटा टायर

धुलिया. रोटी-रोजी के लिए मध्य प्रदेश से निकले मजदूरों से भरी पिकअप वाहन का टायर फटने से वाहन पलटी हो गया है, जिससे एक 12 वर्षीय मासूम बच्चे समेत एक अन्य मजदूर की मौके पर ही मौत हो गई. सातपुडा पर्बतअंचलों में बसे शिरपुर तहसील और पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश के सेंधवा तहसील में रोजगार के अभाव में रोजाना हजारों की संख्या मे सेंधवा तहसील से मजदूर खेती बाड़ी करने के लिए शिरपुर औरंगाबाद नाशिक आते हैं.

 ऐसे ही मजदूरों से भरा पिकअप वाहन मंगलवार सुबह मुंबई-आगरा राष्ट्रीय राजमार्ग पर शिंदखेडा तहसील के गव्हाणे चौराहे से धुलिया की दिशा में जा रहा था. मजदूरों से लदी पीकअप वैन का टायर अचानक फट गया, जिससे यह भयानक हादसा हुआ. जिसमें 2 मजदूरों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, जबकि 45 मजदूरों का उपचार के लिए नरड़ाना पीएससी सेंटर अस्पताल में भर्ती कराया गया था. 20 गंभीर घायलों को जिला अस्पताल रिफर किया गया. इलाज के दौरान पवन जगन सालुंखी की मौत हो गई.

  पुलिस के सामने से गुजरते हैं ओवरलोड वाहन

 शिरपुर तहसील और पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश के सेंधवा तहसील के आदिवासी लोगों की बेरोजगारी सैकड़ों वर्षों से कायम है. ऐसे में वैश्विक बीमारी कोरोना ने इनकी समस्या को और बढ़ा दिया है. इस बीच मंगलवार सुबह सेंधवा तहसील के नांदिया गांव से करीब 50 से अधिक मजदूर भरकर औरंगाबाद जिले में मजदूरी करने रवाना हुए. पीकअप में ओवरलोड मजदूर होने से गाड़ी का टायर फट गया, जिससे जीप पलटी हो गई. वाहन पलटने से 2 मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 45 लोग घायल हो गए है. जिनमें 20 गंभीर बताये जा रहे हैं. गौरतलब है कि पुलिस थाने के सामने ही ये ओवलोड गाड़ियां रोजाना जाती है. जिस ओर पुलिस अनदेखी कर रही है. बताया जा रहा है कि गाड़ी पलटी होने के बाद जो स्वस्थ मजदूर थे, वे घटनास्थल से भाग निकले.

 मजदूरी ने छीनी जिंदगी

 शिरपुर तहसील समेत पड़ोसी सेंधवा तहसील के आदिवासियों के लिए बेरोजगारी एक गंभीर समस्या सदियों से रही है पर यहां के नेता और अफसर ‘नरेगा’ जैसे कानून की मांग गरीबों के लिए नहीं करते. बताया जाता है कि नरेगा की मजदूरी सीधे मजदूर के खाते में जाती है. जिससे अफसर और नेताओं को पैसे नहीं मिल पाएंगे यह प्रमुख कारण होने की चर्चा लोगों में है.