धुलिया में लगाया जाए जनता कर्फ्यू, नियमों का पालन नहीं करने से स्थिति हुई गंभीर

– महापौर सोनार ने की मांग

– जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन 

धुलिया. प्रशासन की लाख कोशिशों के बावजूद धुलिया शहर एवं जिले में कोरोना का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है. मिशन बिग अगेन के  तहत मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सूबे को प्रगति पथ पर लाने के लिए अनलॉक किया है.जिसके चलते शर्तों पर छूट देकर व्यापारिक प्रतिष्ठानों एवं कार्यालय को दोबारा से शुरू करने के आदेश दिए गए  हैं, किंतु नागरिकों द्वारा नियमों की सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं. इसकी शिकायत महापौर चंद्रकांत सोनार ने जिलाधिकारी संजय यादव से ज्ञापन सौंपकर की है.

महापौर ने महानगर निगम क्षेत्र में जनता कर्फ्यू लगाने की मांग की है. सोमवार को महापौर चंद्रकांत सोनार स्थाई समिति सभापति सुनील बेसाने ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर बताया है कि धुलिया शहर में बड़े पैमाने पर कोरोना पॉजिटिव मरीजों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है.

प्रति दिन मिल रहे सैकड़ों मरीज

उन्होंने कहा कि  प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में संक्रमित व्यक्ति मिल रहे हैं. शहर में नागरिकों द्वारा सरे आम नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं जिसके कारण संक्रमण का प्रकोप दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है. वायरस की चेन को तोड़ने के लिए जिला प्रशासन द्वारा तत्काल महानगर निगम क्षेत्र में संपूर्ण लॉकडाउन जनता कर्फ्यू लगाने की गुहार महापौर सोनार और मनपा स्थायी समिति सभापति बैसाने ने लगाई है.