Sai Baba

    शिर्डी. राज्य में कोरोना (Corona) के बढ़ते प्रचलन को देखते हुए राज्य सरकार ने रविवार को कोविड-19 के संबंध में नए दिशा-निर्देश (New Guidelines) जारी किए हैं। साईं समाधि मंदिर (Sai Temple) भक्तों के लिए सुबह 07.15 बजे से शाम 07.45 बजे तक खुला रहेगा। साथ ही सभी साईं भक्तों को ध्यान रखना होगा कि श्री साईं प्रसादालय (Sri Sai Prasadalaya) सुबह 10.00 बजे से शाम 07.30 बजे तक चलेगा। रात 10.30 बजे श्री की शेज आरती और तड़के 4:30 बजे होने वाली काकड़ आरती रोज की तरह होगी, लेकिन इसमें भक्तों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

    श्री साईं बाबा के समाधि मंदिर को कुछ शर्तों पर भक्तों को श्री साईं बाबा के दर्शन के लिए राज्य सरकार के आदेश से 14 नवंबर 2020 को खोला गया है। जिसके अनुसार श्री साईं बाबा मंदिर में भीड़ से बचने के लिए संस्थान की ओर से विभिन्न उपाय किए गए हैं। राज्य में कोरोना के बढ़ते प्रचलन को देखते हुए राज्य सरकार ने नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं, जिसके अनुसार पूरे राज्य में सुबह 08.00 बजे से शाम 07.00 बजे तक कर्फ्यू लगाया गया है।

    साईं दरबार में मना होलिकोत्सव

    उधर, साईं संस्थान में रविवार को पारंपारिक रुप से होली जलाकर वसंतोत्सव मनाया गया। साईंबाबा से बुरे विचार, विकार, राग, द्वेष, मत्सर इस सभी को भस्मसात करके मांगल्य निर्माण करने वाला यह होलिकात्सव भाविकों के जीवन में समृद्धि लाए, कोरोना का संकट दूर हो ऐसी प्रार्थना मुख्य कार्यकारी अधिकारी कान्हुराज बगाटे ने की।

    समाधि मंदिर पर चढ़ाया गया स्वर्णाभूषण

    होली के अवसर पर समाधि मंदिर में साईं की मूर्ति पर चीनी डली और सोने के आभूषण चढ़ाया गया। दोपहर से पहले पारंपरिक रूप से गुरुस्थान मंदिर के सामने होली जलाई गई। इस होली में रणशानी गायों, गन्ना और अरंडी की शाखाओं को शामिल किया गया था। होली पर चारों ओर सुंदर रंगोली लाइनों के साथ पूरनपोली का प्रसाद चढ़ाया गया। संस्था के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कान्हुराज बागटे और संगीता बागटे ने होली जलाई। कार्यक्रम गणपति पूजन के साथ शुरू हुआ और साईं बाबा की आरती के साथ समाप्त हुआ। होली पर पूरन पोली के साथ आम के रस का प्रसाद चढाया गया। इस अवसर पर संस्थान के उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी रवींद्र ठाकरे, वैशाली ठाकरे, मंदिर के प्रमुख रमेश चौधरी उपस्थित थे। पूजा का संचालन दिलीप सुलखे और अमित देशमुख ने किया।