चीन के कायराना हमले से शिवसैनिकों में गुस्सा, राष्ट्रपति का पुतला फूंका

धुलिया. चीन द्वारा भारतीय सेना पर धोखे से किए गए कायराना हमले से शिवसेना के लोगों में बेहद गुस्सा है. शिंदखेड़ा की सड़क पर कार्यकर्ता उतर आए. आम लोगों के साथ शिवसैनिकों ने शहर में जगह-जगह चीन के झंडे के पुतले फूंके. साथ ही चीन के प्रोडक्ट की बिक्री का बहिष्कार करने का निर्णय लिया.छत्रपति शिवाजी महाराज चौक, वरपाडे रोड, शिंदखेडा में चीनी राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंन का प्रतीकात्मक पुतला दहन किया गया.

चाइना ध्वज की होली जलाई

शिवसेना ग्रामीण ज़िला प्रमुख हेमंत सालुंके के नेतृत्व में वरपाडे रोड स्थित शिवाजी महाराज की प्रतिमा के निकट चाइना के राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्रपति शी जिनपिंन के प्रतीकात्मक पुतले की होली जलाई गई. साथ ही चीन के हर प्रोडक्ट का बहिष्कार करने का निर्णय लिया गया.

 चीन को मुंहतोड़ जवाब दे भारत

चीन के हमले से हर तरफ गुस्सा है. शिवसेना जिला प्रमुख हेमंत सालुंखे का कहना है कि भारत को मुंहतोड़ जवाब देने की जरूरत है. वहीं  शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि भी दी गई. जिला प्रमुख सालुंखे ने कहा है कि अपने देश में उत्पादित सामान खरीदे ताकि चीन आर्थिक संकट  गिरे. सालुंके ने भारत सरकार से चीन के कब्जे वाले भारत के क्षेत्र को वापस लेने और शहीदों की मौत का बदला लेने की भी अपील की.

इस अवसर पर ग्रामीण ज़िला प्रमुख हेमंत सालुंके, जिला संगठक मंगेश पवार, पूर्व उप जिला प्रमुख शानाभाऊ सोनवणे, तालुका प्रमुख विश्वनाथ पाटील, शिरपुर तालुका प्रमुख भरत सिंह राजपूत, विधानसभा संगठक छोटू पाटील, कृषि उत्पन्न बाजार समिति संचालक सर्जेराव पाटील, भाईदास पाटील, डॉ.मनोज पाटील, अशोक मराठे, नंदकिशोर पाटील, मनोज धनगर, सद्दाम तेली, संतोष देसले, हीरालाल बोरसे, सागर देसले, गिरीश पाटील, चेतन राजपूत, संतोष माली, विनायक पवार, गणेश परदेशी,  शैलेश सोनार, दीपक बोरसे, प्रदीप पवार, दीपक जगताप, सुकदेव बागुल सहित अन्य शिवसैनिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे.