Shopping for 5 rupees an hour, 500 fine for delay

    सिडको. कोरोना (Corona) के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए अंबड, सातपुर, इंदिरानगर पुलिस थानों के इलाकों में मंडियों और मुख्य रास्तों पर भीड़भाड़ को कम करने की दृष्टि से पुलिस उपायुक्त विजय खरात (Vijay Kharat) ने नाशिक महानगरपालिका (Nashik Municipal Corporation) और पुलिस (Police) विभाग की अंबड पुलिस थाना में एक संयुक्त रुप से बैठक बुलाई थी। नाशिक शहर में कोरोना के बढ़ते केस पर अंकुश लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ मनपा और पुलिस प्रशासन नियमों का उल्लंघन करने वाले नागरिकों के खिलाफ करे।

    बैठक में कुछ योजनाएं बनाई गईं जिन में प्रमुख रुप से यह तय किया गया कि सब्जी मंडी में आने-जाने का एक ही रास्ता होगा, जिसमें प्रति व्यक्ति 5 रुपए (5 Rupees) का टिकट एक घंटे के लिए लेगा और अत्यधिक समय होने पर संबंधित व्यक्ति पर 500 रुपए का जुर्माना (Fine) लगाया जाएगा। इस पृष्ठभूमि में पवन नगर में सब्जी बाजार में बैरिकेडिंग की गई। मनपा के इस निर्णय को लेकर पूरे नाशिक शहर के नागरिकों में गुस्सा देखा जा रहा है।

    मंडियों में हो रही भीड़

    लोगों का मानना है कि मनपा के कर्मचारी एक साथ कई लोगों को 5 रुपए की रसीद काट कर दे रहे हैं और लोग एक साथ मेनरोड ओर शालिमार की मंडियों में भीड़ कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि लोगों की भीड़ कम तो नहीं हो रही उसके विपरीत अधिक नागरिक एक साथ खरीदी के लिए आ रहे हैं। आरोप यह है कि मनपा के कर्मचारी बिना किसी उद्देश्य से आने वाले लोगों को भी 5 रुपए का टिकट देकर भीड़ कर रहे हैं।

    कमाई के लिए नई पहल

    मनपा ने यह नई पहल सिर्फ कमाई करने के लिए की है, नागरिकों को इससे लाभ नहीं हो रहा, उल्टा संक्रमण के अधिक बढ़ने का डर है। बैठक में सहायक पुलिस आयुक्त अशोक नकाते, अंबड पुलिस स्टेशन के कमलाकर जाधव, सातपुर के पुलिस निरीक्षक किशोर मोरे, नगर मंडल अधिकारी डॉ. मयूर पाटिल, नितिन नेर, जितेंद्र पटोले आदि उपस्थित थे।

    सब्जी बाजार में भीड़भाड़ को कम करने के लिए पुलिस और मनपा प्रशासन द्वारा यह पहल लागू की जा रही है कि नागरिकों को नियमों का कड़ाई से पालन करना चाहिए और अपने दम पर कोरोना लड़ाई में भाग लेना चाहिए और प्रशासन के साथ सहयोग करना चाहिए। नियमों का पालन नहीं करने वालों पर दंडात्मक कार्रवाई होगी।

    - विजय खरात, पुलिस उपायुक्त