Social media campaign, villagers give oxygen machine to Covid Center

    देवला. कोरोना (Corona) की दूसरी लहर (second Wave) के थमने के साथ ही वैज्ञानिकों ने तीसरी लहर (Third Wave) की भविष्यवाणी की है। संभावित तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए देवला तहसील (Devla Tehsil) के भऊर (Bhaur) के ग्रामीणों ने सामाजिक प्रतिबद्धता की मिसाल बनते हुए ऑक्सीजन सांद्रता मशीन देवला कोविड केंद्र को भेंट दी। भऊर के बाबा पवार (Baba Pawar) ने सभी ग्रामीणों की ओर से देवला तहसील स्वास्थ्य अधिकारी सुभाष मांडगे और तहसीलदार दत्तात्रेय शेजुल को मशीन सौंपी। 

    देश में कोरोना की दूसरी लहर ने देवला तहसील को पूरी तरह से अपनी चपेट में ले लिया था। दुर्भाग्य से इस अवधि के दौरान ऑक्सीजन की कमी के कारण कई रोगियों ने अपनी जान गंवा दी।

     छोटे बच्चों के लिए घातक होगी तीसरी लहर

    वैज्ञानिकों ने तीसरी लहर की भविष्यवाणी की है। यह तीसरी लहर छोटे बच्चों के लिए घातक होगी ऐसा विशेषज्ञों का अनुमान है। इस अवधि में भी आक्सीजन की कमी हो सकती है, भविष्य के खतरे को देखते हुए भऊर के ग्रामीणों ने सीसी को ऑक्सीजन कंसेंटेटर मशीन का एक छोटा तोहफा दिया है। इस अवसर पर पुलिस उप निरीक्षक खंडेराव भावर, पंचायत समिती तहसील कृषि अधिकारी प्रशांत पवार, कृषि अधिकारी सचिन देवरे, सचिन भामरे, पंकज पाटिल, जगदीश पवार आदि उपस्थित रहे।

     पवार ने गांववालों को दिया धन्यवाद

    थोड़ी सी मदद से आप किसी की जान बचा सकते हैं। ऐसी एक पोस्ट भऊर के एक युवा बाबा पवार ने सोशल मीडिया पर वायरल की थी। भऊर के ग्रामीणों ने तुरंत पवार से संपर्क कर और मदद जुटाकर पोस्ट का जवाब दिया। महज 3 दिनों में मशीन लाने के लिए जरूरी मदद जुटा ली गई। ग्रामीणों का मानना था कि भविष्य में भी उन्हें किसी संकट का सामना करना पड़ेगा। पवार ने विचार व्यक्त किया कि इससे हमारे गांव की एकता का पता चलता है और उन्होंने पूरे गांव वालों को धन्यवाद दिया।

    यदि देश में कोई बड़ा संकट आता है, यदि हर गांव, भऊर ग्रामीणों के उदाहरण का अनुसरण करते हुए प्रशासन को हर संभव सहायता और सहयोग देता है, तो हम निश्चित रूप से किसी भी बड़े संकट का सामना कर सकते हैं। भऊर गांव ने समाज के लिए एक अच्छा उदाहरण स्थापित किया है और अन्य गांवों को इन ग्रामीणों के उदाहरण का पालन करना चाहिए।

    - दत्तात्रेय शेजुल, तहसीलदार देवला