Starvation of female leopard due to starvation, dead body shown to forest personnel during patrolling

    कलवण. तहसील के मार्कड पिंप्री शिवार में भुखमरी के चलते एक मादा तेंदुआ (Female Leopard ) की मौत (Death) होने की घटना सामने आई है। पोस्टमार्टम (Post Mortem) के बाद अन्न नलिका का खून सूखने और भुखमरी से तेंदुआ की मौत होने की जानकारी वन विभाग (Forest Department) ने दी है। शनिवार सुबह 8.30 बजे कलवण परिमंडल के मोजे मार्कडपिंप्री आरक्षित वन कक्ष क्र. 297 में वन पाल कलवण, वन रक्षक पालेपिप्री जंगल में गश्त लगा रहे थे। 

    इसी दरमियान उन्हें ढाई से तीन वर्ष की मादा तेंदुए का शव दिखाई दिया। पंचनामा के बाद शव को पोस्ट मार्टम के लिए नाकोडा रोपवाटिका में लाया गया।

    चोट लगने से नहीं कर पा रही थी शिकार

    पशुधन विकास अधिकारी डॉ. विकास सातपुते और डॉ. महाले ने पोस्टमार्टम किया। मृतक मादा तेंदुआ के पिछले दाएं पैर को चोट लगी है। इसलिए वह शिकार नहीं कर पा रही थी। मादा के अन्न नलिका में खून सूखने से और भुखमरी से दो दिन पहले उसकी मौत हो गई। यह जानकारी डॉ. सातपुते और डॉ. महाले ने दी। नियमों के तहत कार्रवाई कर तेंदुआ के शव का अंतिम संस्कार किया गया। इस मामले की जांच वन परिक्षेत्र अधिकारी वी. बी. पाटिल के मार्गदर्शन में की जा रही है।