social media
Representational Pic

    नाशिक. कोरोना संक्रमण (Corona Infection) एक बार फिर बढ़ना शुरू हो गया है। पिछले तीन-चार दिनों में सक्रिय मरीजों (Active Patients) की संख्या 1200 तक पहुंच गई है और यह संख्या रविवार को 300 से बढ़कर 1544 हो गई। इसलिए सभी को मास्क पहनना चाहिए और यथासंभव सामाजिक और सार्वजनिक कार्यक्रमों का आयोजन बंद करना चाहिए। केवल जहां जरूरत हो वहां भाग लें। अन्यथा, जिला प्रशासन ने सोशल मीडिया के माध्यम से इन समारोहों को पूरी तरह से बंद करने की अपील की है। 

    कोरोना की दूसरी लहर ने दुनिया को कड़ी टक्कर दी है। यह लहर पहले की तुलना में अधिक गंभीर है और शहर की स्थिति धीरे-धीरे खराब होती जा रही है। 

    लापरवाही के कारण संक्रमण में वृद्धि 

    28 मार्च को जिले में केवल एक कोरोना संक्रमित मरीज था। तब से संक्रमित रोगियों की संख्या एक लाख को पार कर गई है और प्रति दिन सक्रिय मरीजों की संख्या 1100 तक पहुंच गई थी। पिछले कुछ दिनों में यह संख्या घट रही थी, लेकिन कोरोना की दूसरी लहर ने रोगियों की संख्या अब फिर से बढ़ा दी है। वर्तमान में 1500 से अधिक संक्रमित मरीज हैं। 

    लॉकडाउन से बचने बरतें एहतियात

    पिछले 2/3 दिनों में नागरिकों की लापरवाही के कारण संक्रमण में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। इसलिए लॉकडाउन जैसी स्थिति से बचने के लिए सभी को अपना ध्यान रखना चाहिए। जिला कलेक्टर सूरज मांढरे ने कहा कि मास्क को सुरक्षा कवच के रूप में इस्तेमाल किया जाना चाहिए और सुरक्षित दूरी और सैनिटाइजर का उपयोग करना बहुत जरूरी है।

    1 लाख 19 हजार 606 रिपोर्ट पॉजिटिव 

    शनिवार को जिले में 252 नए कोरोना मरीजों के सामने आने के समाचार मिले हैं। केवल 62 मरीज ठीक हुए हैं और 3 की मौत हो गई। शहर में संक्रमित मरीज बढ़ रहे हैं। अब तक 5 लाख 26 हजार 790 मरीजों की रिपोर्ट जांच के लिए भेज चुके हैं। 1 लाख 19 हजार 606 रिपोर्ट पॉजिटिव रही हैं। 4 लाख 6 हजार 565 रिपोर्ट निगेटिव आई हैं और 1 लाख 15 हजार 790 मामले ठीक हुए हैं। रिकवरी की दर 96.81 है। वर्तमान में 1731 पॉजिटिव रोगियों का इलाज चल रहा है। अब तक 2085 मरीजों की मौत हो चुकी है।