जवान कुलदीप जाधव को दी गई आखिरी बिदाई

सटाणा. कुलदीप जाधव अमर रहे का जयघोष, परिवार का आक्रोश, जवानों द्वारा दी गई आखरी सलामी और हजारों शोक के सागर में डूबे नागरिकों की मौजूदगी में मंगलवार को आंसुओं से पिंगलवाड़े के शहीद जवान कुलदीप जाधव को आखरी बिदाई दी गई. पिछले शनिवार को अवकाश लेकर घर की ओर आने वाले कुलदीप जाधव का शव कारगिल सेक्टर में सुबह के समय मिला. आकस्मित मौत होने से जाधव का पार्थिव मंगलवार सुबह 10 बजे सटाणा में लाया गया.

शहर के शिवाजी महाराज पुतले के नजदीक कुलदीप को पुष्पांजलि अर्पित की गई. इसके बाद ताहाराबाद रास्ते पर भाक्षी रोड के उनके घर में पार्थिव लाया गया. आधा घंटा अंतिम दर्शन के लिए कुलदीप का पार्थिव रखा गया. उनके घर से उनके गांव पिंगलवाड़े तक वैकुंठ रथ पर उनकी अंतिम यात्रा निकाली गई. रास्ते के दोनों ओर रंगोली निकाली गई. औंदाणे, तरसाली, वीरगाव, करंजाड के नागरिकों ने श्रद्धांजलि अर्पित की. नागरिकों ने कुलदीप के पार्थिव पर पुष्पहार और फूल अर्पण कर श्रद्धांजलि दी. दरमियान अमर रहे अमर रहे कुलदीप जाधव अमर रहे, भारत माता की जय, वंदे मातरम् आदि का जयघोष किया गया. 

अंतिम संस्कार के स्थल पार्थिव आते ही सांसद डॉ. सुभाष भामरे, विधायक दिलीप बोरसे, प्रांताधिकारी विजयकुमार भांगरे, तहसीलदार जितेंद्र इंगले-पाटिल, पुलिस उपाधीक्षक शशिकांत शिंदे, पुलिस निरीक्षक नंदकुमार गायकवाड़, सहायक पुलिस निरीक्षक कृष्णा पारधी, देवेंद्र शिंदे, मविप्र के अध्यक्ष डॉ. तुषार शेवाले, पिंगलवाड़े की सरपंच लताबाई भामरे आदि ने पुष्पचक्र अर्पित कर मानवंदना दी. मविप्र के अध्यक्ष डॉ. तुषार शेवाले ने कहा, कुलदीप जाधव के पूरे परिवार को नि:शुल्क वैद्यकीय सेवा दी जाएगी.