corona

  • अब 92 दिनों में दोगुना हो रहे मरीज
  • पहले 24 दिन थी दोगुना होने की रफ्तार

नाशिक. नाशिक महानगरपालिका (Nashik Municipal Corporation) सीमा क्षेत्र में सितंबर माह में कोरोना मरीजों (Corona patients) की संख्या बढ़ गई थी। तब शहर में कोरोना मरीज (Corona patients) दोगुना होने की रफ्तार 24 दिनों की थी। अब यह रफ्तार कम होकर 92 दिनों पर पहुंच गई है। इसके चलते नाशिकवासियों को बड़ी राहत मिली है। बता दें कि दीपावली के दौरान मंडियों में हुई भीड़ और नियमों को नजरअंदाज करने से एक बार फिर कोरोना पीड़ितों की संख्या बढ़ गई थी। इसके चलते नाशिकवासियों की जिम्मेदारी बढ़ गई थी। नाशिक शहर (Nashik city) में 6 अप्रैल को पहला कोरोना मरीज मिलने के बाद सही मायने में जुलाई के बाद कोरोना मरीजों की संख्या तेज रफ्तार से बढ़ गई। सितंबर माह में सर्वाधिक प्रति दिन 867 कोरोना मरीज सामने आए। 

अक्टूबर में कम हुई पीड़ितों की संख्या 

अक्टूबर माह में पीड़ितों की संख्या कम हुई। सरकारी और निजी अस्पताल में उपचार कराने वाले मरीजों का आंकड़ा 4 हजार के अंदर पहुंचा। अक्टूबर माह में प्रति दिन नए मरीजों का आंकड़ा 300 से 350 तक पहुंचा। इसके चलते मरीज दोगुना होने की रफ्तार 24 दिनों से 42 दिनों पर पहुंची। इसमें 9 सितंबर को शहर में कुल कोरोना मरीजों की संख्या 31 हजार 942 थी। 13 नवंबर को शहर में 63 हजार 884 मरीज थे। पिछले 15 से 20 दिन पहले शहर में मरीज दोगुना होने की रफ्तार 77 दिन तक पहुंची। 

12 दिसंबर को थे 69 हजार 91 मरीज

अब मरीजों की कुल संख्या को देखते हुए मरीज दोगुने होने की रफ्तार 92 दिनों तक पहुंची है। 11 सितंबर को शहर में कोरोना मरीजों की संख्या 34 हजार 545 थी, तो 12 दिसंबर को शहर में कुल 69 हजार 91 कोरोना मरीज थे। कुल मिलाकर मरीज दोगुने होने की रफ्तार तीन माह के आगे निकल गई है। इसके चलते नाशिकवासियों को राहत मिली है।