पानी की समस्या पर मनपा महासभा में हंगामा

  • मनपा अधिकारी धारणकर पर होगी कार्रवाई
  • महापौर के आश्वासन के बाद शांत हुए नगरसेवक

नाशिक. पीने के पानी को लेकर नाशिक महानगर पालिका (Nashik Municipal Corporation) की ऑन लाइन महासभा में सिडको परिसर के नगरसेवकों ने जमकर हंगामा किया। नगरसेवकों की आक्रमता को देखते हुए महापौर सतीश कुलकर्णी ने इस संदर्भ में महापौर निवास रामायण पर बैठक बुलाने का आश्वासन दिया। इसके बाद आगबबूला हुए नगरसेवक शांत हुए। इस दौरान सिडको परिसर के नगरसेवकों ने पानी को लेकर नारेबाजी करते हुए मनपा अधिकारी धारणकर को निलंबित करने की मांग की। सिडको में पानी की कमी का मुद्दा गूंजा

नगरसेवकों ने सिडको परिसर में पूरी क्षमता से पानी उपलब्ध न होने पर नाराजगी जताते हुए ऑन लाइन महासभा में महापौर सतीश कुलकर्णी के पास शिकायत की। इस दरमियान पाथर्डी फाटा परिसर के जलकुंभ पर पहुंचकर शिवसेना नगरसेविका ने पानी समस्या की ओर प्रशासन का ध्यान आकर्षित किया। इसके बाद महासभा में हंगामा किया। महापौर कुलकर्णी ने मंगलवार को रामायण निवास स्थान में बैठक आयोजित करने की बात कही। इसके बाद नगरसेवक शांत हुए।

 प्रभाग 27, 28 और 29 में जलापूर्ति खंडित

सिडको परिसर के प्रभाग 27, 28 और 29 में विगत कुछ दिनों से जलापूर्ति खंडित हुई है। नागरिकों को समय पर पानी नहीं मिल रहा है। रात में जलापूर्ति की जा रही है। नगरसेवक जब समस्या की शिकायत करते हैं तो विभागीय अधिकारी उलट-पुलट जवाब देते हैं। इससे आक्रोशित शिवसेना नगरसेवक चंद्रकांत खाडे, डी।जी। सूर्यवंशी, सुदाम डेमसे, रत्नमाला राणा सहित अन्य नगरसेवकों ने सीधे महापालिका के स्थायी समिति सभागार में पहुंचकर ऑन लाइन महासभा में शामिल हुए और हंगामा करते हुए नारेबाजी की। महापौर ने नगरसेवकों को शांत करने का प्रयास किया। इस दौरान खाडे ने सिडको परिसर के पानी में कटौती कर नाशिक पूर्व विभाग में जलापूर्ति करने का आरोप लगाया।

पानी समस्या हल करने होगी बैठक

नगरसेवकों के हंगामे के बीच महापौर ने पानी समस्या को लेकर मंगलवार को महापौर निवास स्थान रामायण पर बैठक का आयोजन करने की जानकारी दी। इसी दौरान नागरिक और नगरसेवकों द्वारा की गई शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए मनपा अधिकारी धारणकर के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्णय लिया।

स्वाति भामरे बनीं महिला व बाल कल्याण समिति की सदस्या

विगत महीने मनपा के महिला व बाल कल्याण समिति की सदस्या हिमगौरी आडके-आहेर ने व्यक्तिगत कारणों से अपने पद से इस्तीफा दि दिया था। इसके बाद रिक्त हुई इस सीट पर महापौर ने महासभा में भाजपा की नगरसेविका स्वाति भामरे का चयन कर उनके नाम की घोषणा की।

सभागृह का विवादित विषय एक बार फिर स्थगित

नाशिक महानगर पालिका के दादासाहब गायकवाड़ सभागृह की स्वच्छता करने के बदले में 56 लाख रुपए का कार्योत्तर बिल अदा करने का विषय महासभा में एक बार फिर चर्चा के लिए रखा गया, जिसे लेकर नगरसेवक सुधाकर बडगुजर और गुरुमीत बग्गा ने जोरदार विरोध किया। संबंधित संस्था द्वारा काम रोकने के बाद और अनुबंध रद्द होने के बावजूद उन्हें बिल देना गैरकानूनी होने की बात कर बडगुजर ने कहा, सात वर्षों तक इस मामले में टेंडर निकालने में क्या दिक्कत थी। मामला संदेहास्पद होने के कारण उसे नामंजूर करने की सूचना की। जबकि नगरसेवक बग्गा ने संबंधित संस्था का आयकर विवरण पत्र व कर्मियों के भविष्य निर्वाह निधि के दस्तावेज मांगने की बात कही। साथ ही फर्जी बिल नामंजूर करने की बात कही।