home quarantine

    नाशिक. नाशिक जिले (Nashik District) के ग्रामीण क्षेत्रों में कुछ तहसीलों में कोरोना मरीजों (Corona Patients) की तेजी से बढ़ती संख्या चिंताजनक है। कोरोना (Corona) की दूसरी लहर (Second Wave) में अधिकांश मरीज घर से बाहर रह रहें हैं। जिला परिषद के स्वास्थ्य विभाग ने अब होम क्वारंटाइन (Home Quarantine) के दौरान मरीजों द्वारा निर्देशों का सख्ती से पालन किया जा रहा है या नहीं, इसकी निगरानी के लिए वीडियो कॉल (Video Call)के जरिए मरीजों पर नजर रखने का फैसला किया है। 

    यह जानकारी देते हुए जिला स्वास्थ अधिकारी डॉ. कपिल आहेर ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में पॉजिटिव रोगियों की बढ़ती संख्या सिरदर्द बन रही है। पॉजिटिव मरीजों को घर से बाहर निकलने पर पाबंदी है। मरीजों के हाथों पर होम क्वारंटाइन की मुहर लगा दी गयी है। इन रोगियों से कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए, ग्राम सेवक, आशा स्टाफ और स्वास्थ्य कर्मचारियों के माध्यम से उन पर जिम्मेदारियां तय की गई हैं। 

    4,000 परीक्षण प्रतिदिन किए जा रहे हैं

    कोरोना पर नियंत्रण पाने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में जांच अधिक से अधिक कराई जा रही है। कुछ दिन पहले जहां एक दिन में लगभग 800 परीक्षण किए गए थे, इन दिनों लगभग 4,000 परीक्षण प्रतिदिन किए जा रहे हैं। इसमें एंटीजन और आरटीपीआर दोनों परीक्षण शामिल हैं। छावनी क्षेत्रों में नागरिकों के परीक्षण पर विशेष जोर दिया जा रहा है। जिन रोगियों में लक्षण नहीं हैं, उनकी संख्या अधिक है। 

    दो लाख लोगों को लगा टीका

    जिले में कुल दो लाख से अधिक नागरिक टीकाकरण से अब तक लाभान्वित हुए हैं। टीकों की उपलब्धता बढ़ने पर वैक्सीन की संख्या बढ़ जाएगी। वर्तमान में टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य विभाग से प्रणाली की योजना पूरक है।