DM Suraj Mandhra's purse stolen at the wedding ceremony

  • उपजिलाधिकारी नीलेश को दी गई जिम्मेदारी
  • जिलाधिकारी सूरज मांढरे ने दिया आदेश

नाशिक. कोरोना संक्रमण में आम नागरिकों को महात्मा जोतिबा फुले जन आरोग्य योजना के अंतर्गत तुरंत लाभ मिले, इसलिए प्रभावी और पारदर्शक कार्रवाई होना आवश्यक है. उड़ान दस्ते की मदद से इन योजनाओं पर 100 प्रतिशत कार्रवाई हो रही है या नहीं? इसकी जांच कर रिपोर्ट पेश करने के आदेश जिलाधिकारी सूरज मांढरे ने दिए. वे महात्मा जोतिबा फुले जन आरोग्य योजना के संदर्भ में जिलाधिकारी कार्यालय में आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे.

इस समय अपर जिलाधिकारी दत्तप्रसाद नढे, उपजिलाधिकारी वासंती माली, अतिरिक्त शल्य-चिकित्सक निखील सैंदाणे, निवासी वैद्यकीय अधिकारी अनंत पवार, महात्मा फुले जन आरोग्य योजना के क्षेत्रीय व्यवस्थापक कुलदीप शिरपुरकर, जिला प्रमुख पंकज दाभाडे, जिला प्रमुख विपुल चोपडा, जिला वैद्यकीय अधिकारी संकीत साकल, कोरोना संक्रमण पीड़ितों का इलाज करने वाले सरकारी, निम सरकारी, निजी अस्पताल सहित धर्मदाय संस्था, वैद्यकीय महाविद्यालय के प्रतिनिधि उपस्थित थे. मांढरे ने आगे कहा कि कोरोना संक्रमण की स्थिति गंभीर है. ऐसे में आम नागरिकों को सभी आरोग्य सेवा उपलब्ध कराने के लिए सरकारी स्तर पर महात्मा जोतिबा फुले जन आरोग्य योजना कार्यान्वित की गई. परंतु आम नागरिकों तक लाभ पहुंचाने के लिए योजना में पारदर्शकता लाकर उसे प्रभावी रूप से कार्यान्वित करना आवश्यक है. इसके लिए सभी सरकारी, निम सरकारी, निजी अस्पताल तथा धर्मदाय संस्थाओं को एकसाथ काम करना जरूरी है.

आम नागरिकों को लाभ मिलता है या नहीं? इसकी जांच उड़न दस्ते के माध्यम से करें. योजना का लाभ लेने के लिए आज की स्थिति में कई नियम शिथिल किए गए हैं. इस योजना में अधिक से अधिक मरीजों को शामिल करने के लिए अस्पताल प्रयास करें. मरीजों को उपचार सेवा उपलब्ध कराएं. योजना को कार्यान्वित करने के लिए नियम बदलाव की जानकारी संबंधित अस्पतालों को समय-समय पर दें. संपूर्ण योजना को प्रभावी रूप से कार्यान्वित करने के लिए जिलाधिकारी कार्यालय से हर दिन नियंत्रण करें, जिसकी जिम्मेदारी उपजिलाधिकारी नीलेश को दी गई है.