मजदूर गुलाम नहीं, श्रमिकों को न्याय देने लड़ेंगे: कडू

  • श्रम राज्यमंत्री बच्चू के हाथों पुरस्कार वितरित

नाशिक. मजदूर गुलाम नहीं हैं, यदि उनको न्याय नहीं मिलता है, तो हमें इसके लिए लड़ना होगा। श्रम राज्यमंत्री बच्चू कडू  (Minister of State for Labor Bachhu Kadu) ने यहां अम्बेकर पुरस्कार समारोह को संबोधित करते हुए अपने विचार व्यक्त किए।

राष्ट्रीय मिल वर्कर्स यूनियन (National mill workers union) द्वारा दिया जाने वाला  प्रतिष्ठा और गौरव पुरस्कार, अम्बेकर जीवन गौरव पुरस्कार श्रम राज्यमंत्री बच्चू कडू के हाथों वितरित किया गया। इनमें नाशिक की धावक मोनिका अथारे और कवि संजय गोराडे शामिल हैं।

एसोसिएशन के अध्यक्ष और पूर्व राज्यमंत्री सचिन अहीर ने महात्मा गांधी हॉल, परेल, मुंबई में आयोजित समारोह की अध्यक्षता की। संगठन के पहले संस्थापक और कार्यकर्ता महर्षि अम्बेकर के 56वें स्मृति दिवस के अवसर पर पुरस्कार समारोह आयोजित किया गया था। 

महेश सेवलीकर व अन्य सम्मानित

अम्बेकर श्रम गौरव पुरस्कार औरंगाबाद के बजाज ऑटो के कामगार महेश सेवलीकर (सामाजिक), नाशिक के किमप्लास पाइपिंग कंपनी के कामगार संजय गोराडे (साहित्य), औरंगाबाद के ही शासकीय मुद्रणालय के सेवानिवृत्त और संघटक कामगार एम. ए. गफ्फार (कामगार), भारतीय जीवन वीमा विभाग की रनर मोनिका आथरे (क्रीड़ा) और रायगड के रिलायन्स के कामगार कलाकार मकरंद नाईक (कला) को देकर सम्मानित किया गया।