बिल गेट्स-मेलिंडा का नाता टूटा, अमेरिका में तलाक होना आम बात

    पड़ोसी ने हमसे कहा, ‘‘निशानेबाज, कितने दुख की बात है कि विश्व की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसाफ्ट के सहसंस्थापक बिल गेट्स और उनकी पत्नी मेलिंडा ने अपनी शादी के 27 वर्ष बाद तलाक लेने का फैसला किया है. उनकी इतने साल तक आपस में निभी लेकिन अब क्यों नहीं निभ पा रही है?’’ हमने कहा, ‘‘यह बिल गेट्स और मेलिंडा का पर्सनल मामला है. आपको इससे क्या लेना-देना?’’ पड़ोसी ने कहा, ‘‘निशानेबाज, भारत में विवाह को 7 जन्मों का पवित्र बंधन माना जाता है, जबकि विदेशों में शादी का अर्थ सिर्फ कॉन्ट्रैक्ट है. जब तक निभा, तब तक निभाते हैं. अपने देश में कितने ही गुण-दोषों या खामियों के बावजूद दम्पति एक दूसरे का साथ निभाए चले जाते हैं. लड़ते-झगड़ते हैं, रोते-झींकते हैं, लेकिन फिर भी साथ रहते हैं. रिश्तों में सहनशीलता बनी रहती है. भारत में काफी कम तलाक होते हैं.’’

    हमने कहा, ‘‘अमेरिका में तलाक आम बात है. वहां एक दूसरे से दिल भर जाने के बाद पति कोई नई प्रेमिका खोज लेता है और पत्नी भी नया ब्वॉयफ्रेंड तलाश लेती है. अमेरिकी अभिनेत्री एलिजाबेथ टेलर ने 7 शादियां की थीं. कोई जोड़ा जिंदगी भर साथ टिक गया तो उसे अपवाद माना जाता है. भारत में पति कुरूप, रोगी या अपंग हो तो भी पत्नी उसकी आजीवन सेवा करती है. पढ़ा-लिखा पति भी अशिक्षित या फूहड़ पत्नी के साथ निभाव कर लेता है. कितने ही लोग इसे अपनी किस्मत मानकर समझौता कर लेते हैं. भारत में विवाह संबंध में वफादारी बड़ी चीज है.’’ पड़ोसी ने कहा, ‘‘निशानेबाज, बिल गेट्स और मेलिंडा तो बहुत उदारमना हैं.

    वे अपने बिल-मेलिंडा फाउंडेशन से काफी चैरिटी करते हैं. क्या वे उदारतापूर्वक अपने मतभेद दूर नहीं कर सकते थे?” हमने कहा, ‘‘अमेरिका में व्यक्तिगत आजादी बड़ी चीज है. दोनों एक-दूसरे की आजादी में दखल देना नहीं चाहते. बिल और मेलिंडा स्वेच्छा से विवाह बंधन तोड़ रहे हैं. वे मानते हैं कि 27 साल में उनकी मैरिज की एक्सपायरी डेट हो गई. अब वे किसी अन्य से डेटिंग करेंगे और नया जीवनसाथी ढूंढ लेंगे. यदि उन्हें हिंदी आती तो वे गाते- तआल्लुक बोझ बन जाए तो उसको छोड़ना अच्छा, चलो एक बार फिर से अजनबी बन जाएं हम दोनों!’