Former DY CM Sushil Modi
Former DY CM Sushil Modi

    पटना. बिहार में 24 घंटे में कोविड-19 से पूर्व उपमुख्यमंत्री तथा भाजपा के राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी के छोटे भाई समेत 97 लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही राज्य में संक्रमण से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 2,739 हो गई है। इसके अलावा संक्रमण के 13,534 मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 4,97,640 हो गई । सुशील मोदी के छोटे भाई अशोक कुमार मोदी (65) का आज पटना के एक अस्पताल में कोरोना संक्रमण के इलाज के दौरान निधन हो गया। पटना शहर के गुलाबीघाट पर सुशील ने अपने छोटे भाई की चिता को मुखाग्नि दी ।

    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अशोक कुमार मोदी की कोरोना से मौत होने पर शोक और गहरी संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने अपने शोक संदेश में कहा कि अशोक कुमार मोदी का निधन दुखद है। वे एक सामाजिक व्यक्ति थे। सामाजिक कार्यों में उनकी गहरी अभिरूचि थी। उनके निधन से सामाजिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति तथा उनके परिजनों को दुःख की इस घड़ी में धैर्य प्रदान करने की कामना की।

    उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने अशोक मोदी के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने अपने शोक संदेश में कहा कि अशोक मोदी के निधन की सूचना अत्यंत पीड़ादायक है। इस असीम वेदना की घड़ी में मेरी संवेदनाएं राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी के परिवार के साथ हैं।

    उपमुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति तथा शोकाकुल परिजनों को धैर्य एवं संबल प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है। स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण से 97 मरीजों की मौत हुई है। बिहार में शनिवार अपराह्न 4 बजे से रविवार 4 बजे तक कोरोना वायरस संक्रमण के 13,534 नए मामले प्रकाश में आए हैं।

    इनमें से 2,748 मामले राजधानी पटना में सामने आए हैं। राज्य में अब तक कुल 4,97,640 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं। इनमें से 38,4955 लोग ठीक हो चुके हैं। 24 घंटे में 11,694 लोग ठीक हुए हैं। बिहार में पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 89,393 नमूनों की जांच की गई। पिछले साल से अब तक कुल 26,52,9576 नमूनों की जांच की जा चुकी है ।

    बिहार में वर्तमान में कोविड-19 उपचाराधीन रोगियों की संख्या 1,09,945 है। राज्य में रविवार को 45 वर्ष से अधिक आयु के 59,835 लोगों ने कोविड 19 का टीका लगवाया। प्रदेश में अबतक 72,95,165 लोग टीका लगवा चुका है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर राज्य सरकार द्वारा सूचना एवं जन-सम्पर्क विभाग द्वारा मान्यता प्राप्त सभी पत्रकारों के साथ-साथ जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी द्वारा सत्यापित गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारों (प्रिन्ट, इलेक्ट्रोनिक एवं बेव मीडिया आदि) को प्राथमिकता के आधार पर कोविड-19 टीकाकरण के लिए फ्रंटलाइन कर्मियों की श्रेणी में शामिल करने का निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार ऐसे सभी मान्यता प्राप्त पत्रकारों का प्राथमिकता के आधार पर कोविड-19 का टीकाकरण किया जाएगा। (एजेंसी)