Amrinder Singh and Khattar

चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने रविवार को पूछा कि हरियाणा के उनके समकक्ष मनोहरलाल खट्टर ने उनसे संपर्क करने के लिए आधिकारिक चैनल का सहारा क्यों नहीं लिया। खट्टर ने आरोप लगाया था कि वह सिंह से किसानों के मुद्दे पर बात करना चाहते थे लेकिन लगातार फोन करने पर भी उन्होंने जवाब नहीं दिया।

खट्टर की ओर से जारी किए गए कॉल रिकॉर्ड को ‘पूरी तरह से फर्जीवाड़ा’ बताते हुए सिंह ने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री इस तरह से अपनी ‘धूर्तता’ प्रदर्शित कर रहे हैं। खट्टर ने संपर्क करने के सबूत का दावा करते हुए कॉल रिकॉर्ड जारी किया था।

सिंह ने कहा, “अगर उनके (खट्टर) कार्यालय से किसी ने मेरे आवास पर फोन किया तो अटेंडेंट (परिचारक) को क्यों फोन कॉल किया गया? मुझ से संपर्क करने के लिए आधिकारिक चैनल का रास्ता क्यों नहीं अपनाया गया?”

सिंह ने कहा, “पंजाब सरकार के शीर्ष अधिकारी, मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक समेत अन्य अधिकारी एक-दूसरे से किसानों के मुद्दों पर कई दिनों से सपंर्क में हैं और फिर भी इनमें से किसी भी अधिकारी को यह नहीं बताया गया कि वह मुझसे बात करना चाहते हैं।”

सिंह ने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री सीधे अपने फोन से उनके फोन पर कॉल कर सकते थे। पंजाब के मुख्यमंत्री ने खट्टर पर आरोप लगाया कि किसानों के प्रदर्शन पर चर्चा करने की उनकी ‘गंभीर मंशा’ ही नहीं थी। (एजेंसी)