Pashupati Kumar Paras and Chirag Paswan

    पटना. लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) (LJP) के सांसद पशुपति कुमार पारस (MP Pashupati Kumar Paras) के नेतृत्व वाले पार्टी के खेमे ने बृहस्पतिवार को पारस को निर्विरोध पार्टी का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने का दावा किया। उन्होंने हाल ही में अपने भतीजे चिराग पासवान को लोकसभा में पार्टी के नेता और पार्टी अध्यक्ष पद से हटा दिया था।

    लोजपा के सूत्रों ने बताया कि बृहस्पतिवार को अपराह्न तीन बजे तक किसी अन्य दावेदार का नामांकन पत्र दाखिल नहीं किए जाने पर हाजीपुर से सांसद पारस को निर्विरोध पार्टी का नया अध्यक्ष निर्वाचित किया गया। इस बाबत औपचारिक घोषणा शाम पांच बजे की जा सकती है।

    पार्टी संस्थापक दिवंगत रामविलास पासवान के छोटे भाई और राज्य के पूर्व मंत्री पारस ने हाल ही में लोजपा के अन्य चार सांसदों के समर्थन से चिराग की जगह लोकसभा में पार्टी के नेता का ओहदा हासिल कर लिया है। वह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी शिष्टाचार मुलाकात कर सकते हैं।

    चिराग के समर्थक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर पार्टी में फूट के पीछे हाथ होने का आरोप लगाते रहे हैं। यह तत्काल पता नहीं चल सका है कि लोजपा के पारस गुट की बैठक में चिराग के बारे में कोई निर्णय लिया गया या नहीं। पारस गुट द्वारा कुछ दिनों पहले दिल्ली में हुई लोजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में चिराग को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से हटाकर पूर्व सांसद सूरज भान सिंह को पार्टी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया था।

    आज सूरजभान सिंह के आवास पर आयोजित बैठक में प्रिंस राज अनुपस्थित रहे जिन्होंने पारस को समर्थन जताया है। प्रिंस के पिता दिवंगत राम चंद्र पासवान लोजपा संस्थापक रामविलास पासवान के छोटे भाई थे। (एजेंसी)