बिहार चुनाव : 70 उम्मीदवारों ने दूसरे चरण के 94 विधानसभा सीटों के लिए पर्चे दाखिल किए

पटना. बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) की 243 सीटों में से दूसरे चरण में जिन 94 सीटों पर तीन नवंबर को मतदान होना है, उनके लिए अब तक कुल 70 उम्मीदवारों ने अपना नामांकन पत्र (Nomination) दाखिल कर दिया है। तीसरे चरण में सात नवंबर को जिन 78 सीटों पर चुनाव होना है उनके लिए दो प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र दाखिल किया है।

बिहार विधानसभा के तीसरे चरण के चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया मंगलवार से शुरू हुई जो जो 20 अक्टूबर तक जारी रहेगी। अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी संजय कुमार सिंह ने मंगलवार को संवाददाताओं को बताया कि अब तक 70 उम्मीदवारों ने दूसरे चरण के मतदान के लिए अपने पर्चे दाखिल किए, जबकि 78 सीटों के लिए तीसरे चरण के मतदान के लिए दो नामांकन पत्र दाखिल किए गए हैं।

उन्होंने कहा कि दूसरे चरण के लिए नामांकन दाखिल करने का आज तीसरा दिन था। आज अपना पर्चा दाखिल करने वालों में प्रमुख रूप से बिहार के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव (पटना साहेब सीट), प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी राजद के प्रमुख लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव (समस्तीपुर के हसनपुर), राजद के वरिष्ठ नेता और विधायक भाई वीरेंद्र (पटना के मनेर विधानसभा क्षेत्र से) शामिल हैं।

तेजप्रताप के छोटे भाई तेजस्वी यादव भी उनके नामांकन दाखिल कराने के लिए हेलीकॉप्टर से पटना से समस्तीपुर पहुंचे थे। तेजप्रताप यादव अपने छोटे भाई तेजस्वी प्रसाद यादव के साथ रोसड़ा अनुमंडल अधिकारी के कक्ष में कागजात जमा करने के लिए गए थे, जबकि राजद के सैकड़ों कार्यकर्ता और समर्थक सोशल डिस्टेंसिंग के मापदंड का उल्लंघन करते हुए बाहर दिखे।

समस्तीपुर के जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने कहा कि मामले की जांच करने के बाद सोशल डिस्टेंसिंग के मापदंड का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

शुभंकर ने कहा कि उन्होंने वीडियो फुटेज के जरिए सोशल डिस्टेंसिंग के मापदंड के उल्लंघन के आरोपों का पता लगाने के लिए कहा है। तेज प्रताप ने 2015 में वैशाली जिले के महुआ विधानसभा क्षेत्र से चुनाव जीता था लेकिन उन्होंने इस बार अपनी सीट बदलने का निर्णय लिया और हसनपुर से नामांकन दाखिल किया है। संजय सिंह ने बताया कि वाल्मीकिनगर लोकसभा उपचुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने की भी प्रक्रिया शुरू हो गयी है।

बिहार विधानसभा के चुनाव तीन चरणों में 28 अक्टूबर (71 सीटों), तीन नवंबर (94 सीटों) और सात नवंबर (78 सीटों) पर होंगे और मतगणना 10 नवंबर को होगी।

सिंह ने कहा कि इस साल के बिहार विधानसभा चुनावों के दौरान तीन अलग-अलग तरह के 238 पर्यवेक्षक तैनात किए जाएंगे जिनमें 134 सामान्य पर्यवेक्षक, 67 व्यय और 37 पुलिस पर्यवेक्षक शामिल हैं जिन्हें विभिन्न दलों और उनके उम्मीदवारों पर नजर रखने के लिए प्रतिनियुक्त किया जाएगा।

25 सितंबर से आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद से बीकन लाइट, ध्वज आदि के दुरुपयोग के लिए 30 मामले दर्ज किए गए हैं, लाउडस्पीकर अधिनियम के उल्लंघन के सात, अवैध सभाओं के 68 मामले और अन्य मामलों से संबंधित 36 मामले से दर्ज किए गए हैं।

कानून और व्यवस्था से संबंधित मामलों में 1084 अवैध हथियार जब्त किए गए हैं, जबकि 17,334 लाइसेंसी हथियार संबंधित अधिकारियों के पास जमा कराए गए हैं और 2103 हथियार के लाइसेंस रद्द किये गए हैं।

सीआरपीसी की धारा 107 के तहत 23,129 वादों में 2,10,373 व्यक्तियों को बंधपत्रित किया गया है । आबकारी और निषेध से संबंधित मामलों में, 9,29,592 लीटर शराब जब्त की गई है, जबकि वाहन चेकिंग अभियान के दौरान संबंधित अधिकारियों द्वारा 15,56,80,976 रुपये (15.56 करोड़ रुपये) जब्त किए गए हैं। (एजेंसी)